Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 8, 2022 · 1 min read

आखिर क्यों… ऐसा होता हैं 

ऐसा क्यूँ होता है
देखे जो खाव्ब क्यों.. टूट जाते है..!
कितनी करते है कोशिश
फिर…भी अपने क्यों.. रूठ जाते है..!
करते है संधर्ष ताकि निभा पाये फर्ज
फिर… भी क्यों.. हार जाते है..!
अपनी ख़ुशीयों की आहुति देकर
रखते है मान सभी का…
फिर…भी क्यों सभी के नजरो में चुभते है..!!
खुद की है जिंदगी जीना भी है अपने तरिके से
फिर..भी क्यों.. अपनी मर्जी मार देते है..!
अपनी पसंद – नापसंद क्यों नहीं चलती
क्यों.. अनचाहा करना पड़ता है
ऐ न करो… वो न करो….!..!
क्यों….. आखिर क्यों… ऐसा होता हैं
हर बार… हम क्युं हार जाते हैं…!!!!

1 Like · 2 Comments · 92 Views
You may also like:
शिक्षा संग यदि हुनर हो...
मनोज कर्ण
लाशें बिखरी पड़ी हैं।(यूक्रेन पर लिखी गई ग़ज़ल)
Taj Mohammad
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
मुझसे पहले क्या किसी ने
gurudeenverma198
छंदानुगामिनी( गीतिका संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
✍️ज्वालामुखी✍️
'अशांत' शेखर
सुन मेरे बच्चे !............
sangeeta beniwal
अपना कंधा अपना सर
विजय कुमार अग्रवाल
स्वागत बा श्री मान
आकाश महेशपुरी
उलझनें_जिन्दगी की
मनोज कर्ण
अरदास
Vikas Sharma'Shivaaya'
लौटे स्वर्णिम दौर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
💐 निर्गुणी नर निगोड़ा 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिन्दगी एक दरिया है
Anamika Singh
*दशरथनंदन राम (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण 'श्रीपद्'
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
पहली भारतीय महिला जासूस सरस्वती राजमणि जी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कमर तोड़ता करधन
शेख़ जाफ़र खान
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
✍️✍️एहसास✍️✍️
'अशांत' शेखर
क्षणिकायें-पर्यावरण चिंतन
राजेश 'ललित'
*स्वर्गीय श्री जय किशन चौरसिया : न थके न हारे*
Ravi Prakash
बेटी की मायका यात्रा
Ashwani Kumar Jaiswal
एक ख़्वाब।
Taj Mohammad
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
यूं भी तेरी उलफत का .....
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
Ravi Prakash
प्रकृति की नज़ाकत
Dr.Alpa Amin
किसी और के खुदा बन गए है।
Taj Mohammad
Loading...