Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

आखिरी दम तलक नहीं बुझती

आखिरी दम तलक नहीं बुझती
हवस मेरी सुलह नहीं करती

जब से जन्मा हूँ बटोरता ही रहा
संग्रह की प्रवृति नहीं मिटती

अगली पीढ़ी नकारा ही होगी
मन से शंका ये क्यूं नहीं मिटती

लोग ईमान तलक बेच रहे
प्रेम रस की दुकां नहीं मिलती

ढूंढ ही लेते दोष दूजों में
अपनी गलती मगर नहीं दिखती

मन का शीशा क्यों इतना धुंधला है
असली तस्वीर ही नहीं दिखती

घुल चूका है तनाव रिश्तों में
धूप आँचल से अब नहीं रूकती

प्रदीप तिवारी
9415381880

2 Likes · 1 Comment · 357 Views
You may also like:
#udhas#alone#aloneboy#brokenheart
Dalvir Singh
सुमंगल कामना
Dr.sima
"महेनत की रोटी"
Dr. Alpa H. Amin
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पेड़ों का चित्कार...
Chandra Prakash Patel
साहब का कुत्ता (हास्य व्यंग्य कहानी)
दुष्यन्त 'बाबा'
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
तरबूज का हाल
श्री रमण
सूरज काका
Dr Archana Gupta
आखिर तुम खुश क्यों हो
Krishan Singh
एकाकीपन
Rekha Drolia
पहला प्यार
Dr. Meenakshi Sharma
लिखे आज तक
सिद्धार्थ गोरखपुरी
गृहस्थ संत श्री राम निवास अग्रवाल( आढ़ती )
Ravi Prakash
जेब में सरकार लिए फिरते हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
उत्तर प्रदेश दिवस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
श्री राम
नवीन जोशी 'नवल'
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
पिता
Surabhi bharati
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
भारत के इतिहास में मुरादाबाद का स्थान
Ravi Prakash
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
धोखा
Anamika Singh
ज्यादा रोशनी।
Taj Mohammad
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
एक बात... पापा, करप्शन.. लेना
Nitu Sah
Loading...