Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#3 Trending Author
Aug 2, 2021 · 1 min read

आखरी उत्तराधिकारी

**************************
बड़ी नेक थी इन्दिराजी,
एक नेता के रूप में।
बड़ी सतर्क थी इन्दिराजी,
एक शासक के रूप में।।
था हाथों में उनके–
भारत का संविधान।
था देश के खातिर,
उनको बड़ा अभिमान।।
थी इन्दिराजी विराजमान,
दिल्ली के आसन पर।
थी एक शक्ति के रूप में,
दिल्ली के आसन पर।।
परन्तु! रक्षक ही भक्षक बने,
हमेशा के लिए मिटा दिया उन्हें।
इकतीस अक्टूबर चौरासी को–
दिल्ली के आसन से हटा दिया उन्हें।।
लेकिन, इन्दिराजी भी एक-
वीर नीतिज्ञा थी कोई कम नहीं।
चाणक्य और श्रीकृष्ण जैसों के
समतुल्य थी कोई कम नहीं।।
बिठा चली दिल्ली के आसन पर
अपना उत्तराधिकारी राजीव को।
और शासन के सौदागर फिर
तांकते रह गये- दिल्ली के आसन को।।
******************************
*रचयिता: प्रभु दयाल रानीवाल*=
====*उज्जैन (मध्यप्रदेश)*===
******************************

1 Like · 3 Comments · 1094 Views
You may also like:
ये चिड़िया
Anamika Singh
प्रार्थना
Anamika Singh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
सोए है जो कब्रों में।
Taj Mohammad
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
वेलेंटाइन स्पेशल (5)
N.ksahu0007@writer
जला दिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
मां
Dr. Rajeev Jain
✍️इंसान के पास अपना क्या था?✍️
"अशांत" शेखर
उपज खोती खेती
विनोद सिल्ला
चला कर तीर नज़रों से
Ram Krishan Rastogi
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
संघर्ष
Rakesh Pathak Kathara
बाल श्रम विरोधी
Utsav Kumar Vats
फिर एक समस्या
डॉ एल के मिश्र
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H. Amin
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️✍️ओढ✍️✍️
"अशांत" शेखर
मां की पुण्यतिथि
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
धीरता संग रखो धैर्य
Dr. Alpa H. Amin
* जिंदगी हैं हसीन सौगात *
Dr. Alpa H. Amin
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
चम्पा पुष्प से भ्रमर क्यों दूर रहता है
Subhash Singhai
जो भी संजोग बने संभालो खुद को....
Dr. Alpa H. Amin
Little baby !
Buddha Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...