Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 16, 2019 · 1 min read

आओ टेसू

आओ टेसू, होली फिर से,
तुम्हें बुलाती है।

रंग-बिरंगा गरल हवा में,
श्वास-श्वास मटमैली।
चीर गँवाया मर्यादा ने,
भाषा हुई विषैली।
अम्मा गाकर गीत पुराने,
काम चलाती है।
आओ टेसू, होली फिर से,
तुम्हें बुलाती है।

मिल-जुल कर पकवान बनाती,
तब थीं चाची-ताई।
आज निरंकुश हो कर बढ़ती,
सम्बंधों में खाई।
अब बाहर से आकर महरी,
सूप डुलाती है।
आओ टेसू, होली फिर से,
तुम्हें बुलाती है।
?
©®
– राजीव ‘प्रखर’
मुरादाबाद (उ० प्र०)

1 Like · 1 Comment · 142 Views
You may also like:
जी हाँ, मैं
gurudeenverma198
मां की दुआ है।
Taj Mohammad
गांव का भोलापन ना रह गया है।
Taj Mohammad
हमदर्द कैसे-कैसे
Shivkumar Bilagrami
मांडवी
Madhu Sethi
खुदाई भरी पड़ी है।
Taj Mohammad
मारे ऊँची धाँक,कहे मैं पंडित ऊँँचा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
दर्द
Anamika Singh
मतलब के रिश्ते
Anamika Singh
दर्द को मायूस करना चाहता हूँ
Sanjay Narayan
गर्दिशे दौरा को गुजर जाने दे
shabina. Naaz
हम पर्यावरण को भूल रहे हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
Save the forest.
Buddha Prakash
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
घर-घर लहराये तिरंगा
Anamika Singh
*#महापुरुषों_के_पत्र* (संस्मरण)
Ravi Prakash
दोहे एकादश ...
डॉ.सीमा अग्रवाल
✍️बात बात में..✍️
'अशांत' शेखर
मोहब्बत में।
Taj Mohammad
दर्द सबका भी सब
Dr fauzia Naseem shad
सुभाष चंद्र बोस
Anamika Singh
#दोहे #अवधेश_के_दोहे
Awadhesh Saxena
पिता का दर्द
Anamika Singh
.✍️स्काई इज लिमिटच्या संकल्पना✍️
'अशांत' शेखर
व्यावहारिक सत्य
Shyam Sundar Subramanian
✍️"हैप्पी बर्थ डे पापा"✍️
'अशांत' शेखर
सपनों का महल
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
लाडली की पुकार!
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
तुम्हारा हर अश्क।
Taj Mohammad
पिता
Vandana Namdev
Loading...