Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2021 · 1 min read

आओ गोपाल

आओ गोपाल
हो रही है भूमि विकल , अब आओ गोपाल ।
पाप धरा से मिटे कब , जनता करे सवाल ।
जनता करे सवाल ,जीवन जन जन का खार ,
सुर मुरली के सुना , सकून का दे उपहार ।।
गोपि तेरी भटके , प्रीति की दिखा दे राह,
चैन लूटता कूर , मुख से निकले बस आह ।।

1 Like

Language: Hindi
Tag: कविता
77 Likes · 1 Comment · 254 Views

Books from DR.MDHU TRIVEDI

You may also like:
गज़ल
गज़ल
Krishna Tripathi
*अशोक कुमार अग्रवाल : स्वच्छता अभियान जिनका मिशन बन गया*
*अशोक कुमार अग्रवाल : स्वच्छता अभियान जिनका मिशन बन गया*
Ravi Prakash
न रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
न रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
सत्य कुमार प्रेमी
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
Ranjana Verma
नियति
नियति
Shyam Sundar Subramanian
चार पैसे भी नही..
चार पैसे भी नही..
Vijay kumar Pandey
काफिला यूँ ही
काफिला यूँ ही
Dr. Sunita Singh
दिल की तमन्ना
दिल की तमन्ना
अनूप अम्बर
💐प्रेम कौतुक-415💐
💐प्रेम कौतुक-415💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हर रंग देखा है।
हर रंग देखा है।
Taj Mohammad
■ विनम्र आग्रह...
■ विनम्र आग्रह...
*Author प्रणय प्रभात*
स्त्री मन
स्त्री मन
Surinder blackpen
पहचान
पहचान
Shashi kala vyas
"फल"
Dushyant Kumar
विचारधारा
विचारधारा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
स्वयं छुरी से चीर गल, परखें पैनी धार ।
स्वयं छुरी से चीर गल, परखें पैनी धार ।
Arvind trivedi
गीत - प्रेम असिंचित जीवन के
गीत - प्रेम असिंचित जीवन के
Shivkumar Bilagrami
जोशी मठ
जोशी मठ
Shekhar Chandra Mitra
**
**
सूर्यकांत द्विवेदी
जियो उनके लिए/JEEYO unke liye
जियो उनके लिए/JEEYO unke liye
Shivraj Anand
हमारी आंखों में
हमारी आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
मिले तो हम उनसे पहली बार
मिले तो हम उनसे पहली बार
DrLakshman Jha Parimal
प्रेम पत्र
प्रेम पत्र
Shyam Singh Lodhi (LR)
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण 'श्रीपद्'
Every morning, A teacher rises in me
Every morning, A teacher rises in me
Ankita Patel
तुमको बदनाम करेगी
तुमको बदनाम करेगी
gurudeenverma198
Writing Challenge- अंतरिक्ष (Space)
Writing Challenge- अंतरिक्ष (Space)
Sahityapedia
इन रास्तों को मंजूर था ये सफर मेरा
इन रास्तों को मंजूर था ये सफर मेरा
'अशांत' शेखर
कौन बोलेगा
कौन बोलेगा
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
अपकर्म
अपकर्म
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...