Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Aug 2022 · 1 min read

आई राखी

वो नहीं आई
उसका दुलार तो आया है
मेरी राखी आई है
रक्षाबंधन का त्यौहार आया है

रहती है दूर देश में
फिर भी मेरे पास है मेरी बहना
उसके प्यार और दुआओं से
मेरे साथ ही रहती है मेरी बहना

भाई बहन के प्रेम का
पावन प्रतीक होती है राखी
धन्य है वो हर भाई, जिसकी
कलाई पर सजती है राखी

रहता है इंतज़ार हर भाई को
बहन के घर आने का रक्षाबंधन पर
मैं तो इंतज़ार करता हूं
बहन की भेजी राखी का
त्यौहार रक्षाबंधन का आने पर

मुझे बुरा नहीं लगता
जब आती नहीं घर राखी पर बहना
जानता हूं क्योंकि मैं
उसकी मजबूरी है दूर रहना

दूर रहना या पास रहना
कोई ज़्यादा मायने नहीं रखता
पास ही लगते हैं हर पल
अगर आपस में प्यार है रहता

Language: Hindi
8 Likes · 3 Comments · 209 Views
You may also like:
बेसहारा हुए हैं।
Taj Mohammad
तमाल छंद में सभी विधाएं सउदाहरण
Subhash Singhai
लेखनी
Anamika Singh
ताला-चाबी
Buddha Prakash
'प्यारी ऋतुएँ'
Godambari Negi
ये मोहब्बत का काम
Dr fauzia Naseem shad
नव विहान: सकारात्मकता का दस्तावेज
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जाति- पाति, भेद- भाव
AMRESH KUMAR VERMA
क्या ज़रूरत थी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Iran Revolution
Shekhar Chandra Mitra
राह कोई ऐसी
Seema 'Tu hai na'
हाय गर्मी!
Manoj Kumar Sain
सुना था हमने, इश्क़ बेवफ़ाई का नाम है
N.ksahu0007@writer
सृजनकरिता
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अँधेरा बन के बैठा है
आकाश महेशपुरी
राजू श्रीवास्तव - एक श्रृद्धांजली
Shyam Sundar Subramanian
बारहमासी समस्या
Aditya Prakash
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
" राज संग दीपावली "
Dr Meenu Poonia
💐तत्वप्राप्ति: तथा मनुष्यस्य शरीर:💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सफर
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
ग़ज़ल- राना सवाल रखता है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मन पीर कैसे सहूँ
Dr. Sunita Singh
*कविवर श्री अशोक गोयल (पिलखुआ निवासी)*
Ravi Prakash
✍️कुछ रक़ीब थे...
'अशांत' शेखर
झुलसता पर्यावरण / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*•* रचा है जो परमेश्वर तुझको *•*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पिता !
Kuldeep mishra (KD)
जब जख्म कुरेदे जाते हैं
Suryakant Chaturvedi
"अष्टांग योग"
पंकज कुमार कर्ण
Loading...