Sep 3, 2016 · 1 min read

आँसू

आँसू
(गीत)

यूँ ना बहाओ आँसू
दरिया में आ लग जायेगी
तुमने बहाया आँसू
नदियाँ भी शरमा जायेगी

मोती सा कीमती हर आँसू
व्यर्थ ना बहाया करो
तुमने बहाया आँसू
गंगा जटा से उतर जायेगी

प्रिय को प्यारा है आँसू
दिल को कचोट आयेगी
सँभाल रखो हर आँसू
प्रेम मे दिव्यता आयेगी

गिरा जो आँसू पत्ते पर
ओंस सी चमक जायेगी
आँसू ही तो वह रत्न है
पिय से समीपता लायेगी

70 Likes · 261 Views
You may also like:
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मौत ने कुछ बिगाड़ा नहीं
अरशद रसूल /Arshad Rasool
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
प्रेम की साधना
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
पिता और एफडी
सूर्यकांत द्विवेदी
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
पिताजी
विनोद शर्मा सागर
अफसोस-कर्मण्य
Shyam Pandey
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
रामपुर में काका हाथरसी नाइट
Ravi Prakash
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
લંબાવને 'તું' તારો હાથ 'મારા' હાથમાં...
Dr. Alpa H.
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*झाँसी की क्षत्राणी । (झाँसी की वीरांगना/वीरनारी)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
【7】** हाथी राजा **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
क्या लिखूं मैं मां के बारे में
Krishan Singh
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
हमारी ग़ज़लों पर झूमीं जाती है
Vinit Singh
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
बेटियाँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
एक शख्स सारे शहर को वीरान कर जाता हैं
Krishan Singh
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...