Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Nov 2023 · 1 min read

अहं प्रत्येक क्षण स्वयं की पुष्टि चाहता है, नाम, रूप, स्थान

अहं प्रत्येक क्षण स्वयं की पुष्टि चाहता है, नाम, रूप, स्थान आदि के रूप में। इंसान जिस क्षण सक्रिय दिमाग एवं विचारों के साथ “मैं” को भूल जाता, इन तमाम पहचानों से दूर हो जाता है, वही क्षण आत्मज्ञान है, अतुलनीय आंनद है।

1 Like · 14 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
Books from सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
View all
You may also like:
हे देश मेरे महबूब है तू,
हे देश मेरे महबूब है तू,
Satish Srijan
जय श्री कृष्ण
जय श्री कृष्ण
Bodhisatva kastooriya
छुप जाता है चाँद, जैसे बादलों की ओट में l
छुप जाता है चाँद, जैसे बादलों की ओट में l
सेजल गोस्वामी
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
Krishna Kumar ANANT
Meditation
Meditation
Ravikesh Jha
श्री राम
श्री राम
Kavita Chouhan
2632.पूर्णिका
2632.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको युद्ध के लिए सक्षम बनाती है...🙏🏼
Lohit Tamta
"सुहागन की अर्थी"
Sarthi chitrangini
पर्यायवरण (दोहा छन्द)
पर्यायवरण (दोहा छन्द)
नाथ सोनांचली
💐अज्ञात के प्रति-153💐
💐अज्ञात के प्रति-153💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ज़ख्म दिल में छुपा रखा है
ज़ख्म दिल में छुपा रखा है
Surinder blackpen
नायक
नायक
Saraswati Bajpai
वृक्षों के उपकार....
वृक्षों के उपकार....
डॉ.सीमा अग्रवाल
रंग ही रंगमंच के किरदार है
रंग ही रंगमंच के किरदार है
Neeraj Agarwal
एक चुनाव हमने भी लड़ा था
एक चुनाव हमने भी लड़ा था
Suryakant Chaturvedi
शीर्षक:
शीर्षक: "ओ माँ"
MSW Sunil SainiCENA
अपनों को नहीं जब हमदर्दी
अपनों को नहीं जब हमदर्दी
gurudeenverma198
खुद को भी
खुद को भी
Dr fauzia Naseem shad
खवाब
खवाब
Swami Ganganiya
अनूठी दुनिया
अनूठी दुनिया
AMRESH KUMAR VERMA
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
The_dk_poetry
3-फ़क़त है सियासत हक़ीक़त नहीं है
3-फ़क़त है सियासत हक़ीक़त नहीं है
Ajay Kumar Vimal
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
गया राजपद प्रभु हर्षाए : कुछ चौपाइयॉं
गया राजपद प्रभु हर्षाए : कुछ चौपाइयॉं
Ravi Prakash
मोहब्बत के वादे
मोहब्बत के वादे
Umender kumar
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"
*Author प्रणय प्रभात*
RATHOD SRAVAN WAS GREAT HONORED
RATHOD SRAVAN WAS GREAT HONORED
राठौड़ श्रावण लेखक, प्रध्यापक
कांटा
कांटा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Loading...