Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jan 28, 2017 · 1 min read

अश्रु- नाद

, …. मुक्तक ….

जीवन सतरंगी फेरे
झंझा- झँकोर घन घेरे
हो हा- हा कार हृदय में
सुन अश्रु- नाद को मेरे

डा. उमेश चन्द्र श्रीवास्तव

161 Views
You may also like:
✍️खुशी✍️
"अशांत" शेखर
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
निर्गुण सगुण भेद..?
मनोज कर्ण
ढूढ़ा जाऊंगा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बगुले ही बगुले बैठे हैं, भैया हंसों के वेश में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
किसी को गिराया नहीं मैनें।
Taj Mohammad
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
उड़ी पतंग
Buddha Prakash
तू हैं शब्दों का खिलाड़ी....
Dr. Alpa H. Amin
मुझसे मेरा हाल न पूछे
Shiva Awasthi
हमलोग
Dr.sima
✍️मेरा जिक्र हुवा✍️
"अशांत" शेखर
महान है मेरे पिता
gpoddarmkg
✍️जश्न-ए-चराग़ाँ✍️
"अशांत" शेखर
हर किसी में अदबो-लिहाज़ ना होता है।
Taj Mohammad
【10】 ** खिलौने बच्चों का संसार **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
उड़ जाएगा एक दिन पंछी, धुआं धुआं हो जाएगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरा स्वाभिमान है पिता।
Taj Mohammad
कुएं का पानी की कहानी | Water In The Well...
harpreet.kaur19171
दादी की कहानी
दुष्यन्त 'बाबा'
मिल जाने की तमन्ना लिए हसरत हैं आरजू
Dr.sima
हर दिन इसी तरह
gurudeenverma198
जमाने मे जिनके , " हुनर " बोलते है
Ram Ishwar Bharati
आकार ले रही हूं।
Taj Mohammad
*ध्यान में निराकार को पाना (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️सत्ता का नशा✍️
"अशांत" शेखर
ये लखनऊ है मेरी जान।
Taj Mohammad
"DIDN'T LEARN ANYTHING IF WE DON'T PRACTICE IT "
DrLakshman Jha Parimal
Loading...