Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 5, 2022 · 1 min read

अरि ने अरि को

अरि ने अरि को जब काट दिया।
रण को अरि शव से पाट दिया।
जो गिरा अरि शोणित रक्त बीज,
तो रणचण्डी को बाँट दिया।।
– भविष्य त्रिपाठी।
आयु : 17 वर्ष

27 Views
You may also like:
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
किसको बुरा कहें यहाँ अच्छा किसे कहें
Dr Archana Gupta
तिलका छंद "युद्ध"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
बारिश का मौसम
विजय कुमार अग्रवाल
" ठंडी ठंडी ठंडाई "
Dr Meenu Poonia
ढूढ़ा जाऊंगा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
दिल एक उम्मीद को तरसता है
Dr fauzia Naseem shad
श्री अग्रसेन भागवत ः पुस्तक समीक्षा
Ravi Prakash
पैसे की महिमा
Ram Krishan Rastogi
हर घर तिरंगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गीत - मुरझाने से क्यों घबराना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
संतुलन-ए-धरा
AMRESH KUMAR VERMA
✍️✍️पराये दर्द✍️✍️
'अशांत' शेखर
अनोखा‌ रिश्ता दोस्ती का
AMRESH KUMAR VERMA
ख़ुद ही हालात समझने की नज़र देता है,
Aditya Shivpuri
*सदा तुम्हारा मुख नंदी शिव की ही ओर रहा है...
Ravi Prakash
ख्वाहिश है।
Taj Mohammad
भारत
Vijaykumar Gundal
पितृ स्तुति
दुष्यन्त 'बाबा'
ह्रदय की व्यथा
Nitesh Kumar Srivastava
मेरा अक्स तो आब है।
Taj Mohammad
✍️हमउम्र✍️
'अशांत' शेखर
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
✍️वो मेरी तलाश में…✍️
'अशांत' शेखर
महका हम करेंगें।
Taj Mohammad
तोड़कर तुमने मेरा विश्वास
gurudeenverma198
एक पल में जीना सीख ले बंदे
Dr.sima
हम भी नज़ीर बन जाते।
Taj Mohammad
धार्मिक बनाम धर्मशील
Shivkumar Bilagrami
Loading...