Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

अराजकता बंद करो ..

तोड़ फोड़,आगजनी कर ,
राष्ट्रीय संपत्ति का नुकसान करना ।
क्या शोभा देता है तुम्हें ,
इस तरह राष्ट्र का नुकसान करना ।
राष्ट्र का क्या उसके साथ ,
यह जनता की ही है मेहनत की कमाई ,
जो सरकार के पास” कर” रूप में आई ।
तुम निठल्ले ,निकम्मे , मंदबुद्धि लोग ,
जो स्वार्थ वश इसे नफरत की आग में यूं ही झोंक देते,
शर्म नहीं आती तुम्हें! मालूम है हमें ,
इनके पैसे कौन से तुम्हारी जेब से हैं जाते।
और तुम्हें भड़काने वाले दुष्ट विपक्षी दल ,
तुम्हें भड़का के उसी आग में अपना घी डालते।
अरे तुम क्या बनोगे सैनिक !
तुम तो इस महान राष्ट्र सेवा के काबिल ही नहीं हो ।
तुम्हारे जैसे नाराधाम तो देशद्रोही ही कहलाते।
नहीं मंजूर यदि सरकार का फैंसला तो ,
उसे स्वीकार ही मत करो ।
या अपनी बात शांतिपूर्वक रखो ।
मगर खुदा के वास्ते मेरे देश की ,
हम भारतीयों की कमाई का सत्यानाश तो मत करो ।
गर तुम बना नहीं सकते ,
तो तोड़ने का भी तुम्हें हक नहीं।
तुम्हारे जैसे अराजकवादी को ,
इंसान कहलाने का कोई हक नहीं ।

2 Likes · 2 Comments · 106 Views
You may also like:
जीएं हर पल को
Dr fauzia Naseem shad
✍️बसेरा✍️
'अशांत' शेखर
कंकाल
Harshvardhan "आवारा"
मुंशी प्रेमचंद, एक प्रेरणा स्त्रोत
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
✍️पेड़ की आत्मकथा✍️
'अशांत' शेखर
बेजुबान
Dhirendra Panchal
✍️✍️हौंसला✍️✍️
'अशांत' शेखर
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
आकाश महेशपुरी
बंदिशें भी थी।
Taj Mohammad
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रोता आसमां
Alok Saxena
मिसाइल मैन
Anamika Singh
✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️
'अशांत' शेखर
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
* बेकस मौजू *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कविता संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
मेरी बेटी
Anamika Singh
मेरा , सच
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
ख्वाब तो यही देखा है
gurudeenverma198
सच
दुष्यन्त 'बाबा'
महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन
Ram Krishan Rastogi
जन्नत व जहन्नम देखी है।
Taj Mohammad
✍️इंतजार में सावन की घड़ियां✍️
'अशांत' शेखर
किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
ज़िंदगी को चुना
अंजनीत निज्जर
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
पढ़ाई - लिखाई
AMRESH KUMAR VERMA
"DIDN'T LEARN ANYTHING IF WE DON'T PRACTICE IT "
DrLakshman Jha Parimal
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
Loading...