Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Aug 2022 · 1 min read

*अमृत-बेला आई है (देशभक्ति गीत)*

*अमृत-बेला आई है (देशभक्ति गीत)*
••••••••••••••••••••••••••••••••••
आजादी की आज सुनहरी अमृत-बेला आई है
(1)
धरती का कण-कण पेड़ों की हर पत्ती मुस्काती
नील गगन में निर्भय उड़ती हर चिड़िया मधु-गाती
अद्भुत छटा तिरंगे की फहराती देखो छाई है
(2)
याद करें वह वीर जिन्होंने कष्ट अनगिनत झेले
माटी पर सर्वस्व लुटाते हुए खेल जो खेले
कभी न भूलें यह स्वतंत्रता बलिदानों से पाई है
(3)
फौज बनाई नेता जी ने अंग्रेजों से लड़ने
चले अहिंसक-पथ पर बापू सत्याग्रह से अड़ने
काले पानी में अर्पित की अनगिन ने तरुणाई है
(4)
विश्व प्रेम बंधुत्व मनुजता आदर्शों को गाऍं
वसुधा एक कुटुंब हमारा परिचय यह बतलाऍं
ईर्ष्या घृणा द्वेष से अपनी अब तक रही लड़ाई है
आजादी की आज सुनहरी अमृत बेला आई है
•••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा
रामपुर उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

92 Views

Books from Ravi Prakash

You may also like:
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कर्तव्यपथ
कर्तव्यपथ
जगदीश शर्मा सहज
💐प्रेम कौतुक-392💐
💐प्रेम कौतुक-392💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Writing Challenge- कला (Art)
Writing Challenge- कला (Art)
Sahityapedia
7…अमृत ध्वनि छन्द
7…अमृत ध्वनि छन्द
Rambali Mishra
कोई उपहास उड़ाए ...उड़ाने दो
कोई उपहास उड़ाए ...उड़ाने दो
ruby kumari
Ready for argument
Ready for argument
AJAY AMITABH SUMAN
#ekabodhbalak
#ekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
श्री राजा राम राज्य रामायण
श्री राजा राम राज्य रामायण
अरविन्द व्यास
चुहिया रानी
चुहिया रानी
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
कैसा अलबेला इंसान हूँ मैं!
कैसा अलबेला इंसान हूँ मैं!
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
तू है ना'।।
तू है ना'।।
Seema 'Tu hai na'
पूनम का चांद
पूनम का चांद
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
हल्लाबोल
हल्लाबोल
Shekhar Chandra Mitra
“ बुजुर्ग और कंप्युटर ”
“ बुजुर्ग और कंप्युटर ”
DrLakshman Jha Parimal
सब्जियों पर लिखी कविता
सब्जियों पर लिखी कविता
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
■ तेवरी ? #ग़ज़ल
■ तेवरी ? #ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
अब हमें ख़्वाब
अब हमें ख़्वाब
Dr fauzia Naseem shad
गोलू भालू
गोलू भालू
Shyam Sundar Subramanian
*पुष्पेन्द्र वर्णवाल के गीत-विगीत : एक अध्ययन*
*पुष्पेन्द्र वर्णवाल के गीत-विगीत : एक अध्ययन*
Ravi Prakash
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
हे! ज्ञानदायनी
हे! ज्ञानदायनी
Satish Srijan
बाल कहानी- चतुर और स्वार्थी लोमड़ी
बाल कहानी- चतुर और स्वार्थी लोमड़ी
SHAMA PARVEEN
" समर्पित पति ”
Dr Meenu Poonia
किस किस को वोट दूं।
किस किस को वोट दूं।
Dushyant Kumar
खता मंजूर नहीं ।
खता मंजूर नहीं ।
Buddha Prakash
नस-नस में रस पूरता, आया फागुन मास।
नस-नस में रस पूरता, आया फागुन मास।
डॉ.सीमा अग्रवाल
ਮੁੰਦਰੀ ਵਿੱਚ ਨਗ ਮਾਹੀਆ।
ਮੁੰਦਰੀ ਵਿੱਚ ਨਗ ਮਾਹੀਆ।
Surinder blackpen
कल तक थे वो पत्थर।
कल तक थे वो पत्थर।
Taj Mohammad
एक दिन यह समय भी बदलेगा
एक दिन यह समय भी बदलेगा
कवि दीपक बवेजा
Loading...