Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Jul 2022 · 1 min read

अमर शहीद चंद्रशेखर “आज़ाद” (कुण्डलिया)

महानतम् क्रांतिकारी अमर शहीद पं. चंद्रशेखर “आज़ाद” की जयंती पर अर्पित श्रद्धा-शब्द-सुमन –

वक्त गुलामी में रहे,हरपल जो आज़ाद ।
ऐंसे वीर सपूत को, अमर मुबारकबाद ।
अमर मुबारकबाद पिता को पुत्र मिले तो ऐंसा,
सीताराम तिवारी के घर जन्मा बालक जैसा ।
जगरानी माँ के चरणों का हूँ मैं भी आसक्त,
अश्रु-बिंदु अर्पित करता है मैं और मेरा वक्त ।
विनयावनत्
— ईश्वर दयाल गोस्वामी ।

9 Likes · 10 Comments · 209 Views
You may also like:
लड़ते रहो
Vivek Pandey
अभिव्यक्ति की आज़ादी है कहां?
Shekhar Chandra Mitra
पिता एक सूरज
डॉ. शिव लहरी
गन्ना जी ! गन्ना जी !
Buddha Prakash
Writing Challenge- रहस्य (Mystery)
Sahityapedia
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
कविता : 15 अगस्त
Prabhat Pandey
इतनी उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
आओ हम सब घर घर तिरंगा फहराए
Ram Krishan Rastogi
जिंदगी तो धोखा है।
Taj Mohammad
पिता
Deepali Kalra
कल खो जाएंगे हम
AMRESH KUMAR VERMA
गैरों की क्या बात करें
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
लोग कहते हैं कैसा आदमी हूं।
सत्य कुमार प्रेमी
रोग ने कितना अकेला कर दिया
Dr Archana Gupta
प्रश्न पूछता है यह बच्चा
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
यूं भी तेरी उलफत का .....
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
उदासीनता
ओनिका सेतिया 'अनु '
राहे -वफा
shabina. Naaz
अच्छा लगता है
लक्ष्मी सिंह
चेहरे पर कई चेहरे ...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
आओ मिलकर वृक्ष लगाएँ
Utsav Kumar Aarya
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
श्री अग्रसेन भागवत ः पुस्तक समीक्षा
Ravi Prakash
गुरु महान है।
★ IPS KAMAL THAKUR ★
आप जैंसे नेता ही,देश को आगे ले जाएंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
जब चलती पुरवइया बयार
श्री रमण 'श्रीपद्'
'सनातन ज्ञान'
Godambari Negi
Loading...