Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 2, 2019 · 1 min read

अभिनन्दन. का. अभिनन्दन

शूरवीर हो तुम सैनिको,यह तुमने हर बार दिखलाया था,
अभी आतंकियों के घर में घुसकर,तुमने उन्हेें ढहाया था,
फिर भी कर गया हिमाकत,दुश्मन, प्रतिशोध दिखाने आया था,
खदेड दिया,अन्य साथियों ने उनको,तुमने तो मार ही गिराया था,
हां,स्वयं भी आ गए खतरे में तुम,जब मिग तुम्हारा डगमगाया था,
तब पैरासूट का लेकर सहारा,स्वयं को तुमने बचाया था,
किन्तु सजोंग भी ऐसा बना,खतरा नहीं टल पाया था,
पहुँच गए दुश्मन की शरहद पर,देख तुम्हे दुश्मन इतराया था,
लगे करने वह बदसलूकी,तुमने स्वयं को सम्भाल लिया ,
खूद से पहले देश बडा है,यह भी तुमने जतला दिया ,
अपनी पहचान को बतलाया भी,पर दस्तावेजों को चबा लिया,
शेष बच गए जो बाकी,उनको पानी में समा दिया ,
कष्ट जो तुमने तब सहा है,यह जतलाना ना काफी है,
किन्तु कुछ ही पलों मेंकरके ऐसा,देशको दिवाना अपना बना लिया है,
सारा देश तुम्हारी रिहाई को,अब मनौती मना रहा है,
हो सकुशल वापसी तुम्हारी,ईश्वर से है यह प्रार्थना हमारी,
और इसकी घोषणा जैसे हुई,तो देश जश्न मना रहा था,
अब प्रतिश्ना है तुम्हारे आने की,देश टकटकी लगाए निहार रहा था,
लौट आए हो तुम अभिनंदन,देश कर रहा है तुम्हारा अभिनंदन ।

2 Likes · 256 Views
You may also like:
💐💐धर्मो रक्षति रक्षित:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
*विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस प्रदर्शनी : एक अवलोकन*
Ravi Prakash
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जीवन संगीत
Shyam Sundar Subramanian
बोलती आँखे...
मनोज कर्ण
मज़हबी उन्मादी आग
Dr. Kishan Karigar
सावन सजनी पर दोहे
Ram Krishan Rastogi
क्यों मेरा
Dr fauzia Naseem shad
अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश
ओनिका सेतिया 'अनु '
बात चले
सिद्धार्थ गोरखपुरी
वेश्या का दर्द
Anamika Singh
खुशियां तो होंगी वहां पर।
Taj Mohammad
गर्भस्थ बेटी की पुकार
Dr Meenu Poonia
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
दे सहयोग पुरजोर
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
✍️मेरा मकान भी मुरस्सा होता✍️
'अशांत' शेखर
कौन हो तुम….
Rekha Drolia
बारिश की बूंद....
"धानी" श्रद्धा
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
*अमूल्य निधि का मूल्य (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
💐💐ये पदार्थानां दास भवति।ते भगवतः भक्तः न💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अत्याचार
AMRESH KUMAR VERMA
साथ तुम्हारा
मोहन
छलिया जैसा मेघों का व्यवहार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
जिन्दगी की रफ़्तार
मनोज कर्ण
यह जिन्दगी
Anamika Singh
“ खाइतो छी आ गुंगुअवैत छी “
DrLakshman Jha Parimal
Loading...