Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

अब तो सुकून से जीने दे ए जिंदगी

अब तो सुकून से जी लेने दे ए जिन्दगी वीरान पड़े घसलो से बाहर निकल ने देए जिन्दगी अब तो आसमान छु लेने दे ए जिन्दगी सुकून के छाव में कुछ देर तो रहने दे ए जिन्दगी। फूलों की महेक से खिलने दे ए जिन्दगी बेबसी को कुछ देर रुक ले ए जिन्दगी कुछ देर तो सुकून से रहने दे ए जिन्दगी ।कुछ तो करने दे ए जिन्दगी खुल के जी लेने दे ए जिन्दगी जिन्दगी के मौसमो को जी लेने दे ए जिंदगी। अब तो सुकून से हसने दे ए जिन्दगी अब
तो सुकून से जी लेने दे ए जिन्दगी।।

1 Like · 228 Views
You may also like:
कर भला सो हो भला
Surabhi bharati
मां ने।
Taj Mohammad
दुनिया
Rashmi Sanjay
लड़ते रहो
Vivek Pandey
*चली ससुराल जाती हैं (गीतिका)*
Ravi Prakash
भूख
Varun Singh Gautam
अप्सरा
Nafa writer
✍️एक ख़ुर्शीद आया✍️
"अशांत" शेखर
दर्द को मायूस करना चाहता हूँ
Sanjay Narayan
खमोशी है जिसका गहना
शेख़ जाफ़र खान
🌺परमात्प्राप्ति: स्वतः सिद्ध:,,✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हे ईश्वर!
Anamika Singh
आदरणीय अन्ना हजारे जी दिल्ली में जमूरा छोड़ गए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रमेश कुमार जैन ,उनकी पत्रिका रजत और विशाल आयोजन
Ravi Prakash
यूं रो कर ना विदा करो।
Taj Mohammad
दूर क्षितिज के पार
लक्ष्मी सिंह
मोहब्बत के गम ने।
Taj Mohammad
मुश्किलात
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
मेरे अल्फाज़...
"धानी" श्रद्धा
ह्रदय की व्यथा
Nitesh Kumar Srivastava
God has destined me with a unique goal
Manisha Manjari
चिड़िया का घोंसला
DESH RAJ
✍️खून-ए-इंक़िलाब नहीं✍️
"अशांत" शेखर
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
गंगा दशहरा गंगा जी के प्रकाट्य का दिन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मजदूर.....
Chandra Prakash Patel
पिता
Dr.Priya Soni Khare
नयी बहुरिया घर आयी*
Dr. Sunita Singh
मुझको खुद मालूम नहीं
gurudeenverma198
Loading...