Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Dec 2022 · 1 min read

अब तो डर लगने लगा है हमे

अब तो डर लगने लगा है हमे,
भोर के इन उजालों से।
कहीं सूरज भी फब्तियाँ न कसे,
मेरे ऐसे हालातों पर।।

अब मुझे सुकून है बहुत,
घने इन अंधेरों में।
क्योंकि एक ‘रात’ ही है अपनी,
जिसने मेरा दर्द छिपाया आँचल में।।

Language: Hindi
Tag: शेर
2 Likes · 2 Comments · 33 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम्हारी निगाहें
तुम्हारी निगाहें
Er Sanjay Shrivastava
तेज दौड़े है रुके ना,
तेज दौड़े है रुके ना,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"ऐ जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
सियासी खेल
सियासी खेल
AmanTv Editor In Chief
चांदनी रात
चांदनी रात
Mahender Singh Hans
"व्‍यालं बालमृणालतन्‍तुभिरसौ रोद्धुं समज्‍जृम्‍भते ।
Mukul Koushik
बसंत का मौसम
बसंत का मौसम
Awadhesh Kumar Singh
*वही पुरानी एक सरीखी, सबकी रामकहानी (गीत)*
*वही पुरानी एक सरीखी, सबकी रामकहानी (गीत)*
Ravi Prakash
जिन्दगी के रंग
जिन्दगी के रंग
Santosh Shrivastava
"दीपावाली का फटाका" कहानी लेखक: राधाकिसन मूंदड़ा, सूरत, गुजरात।
Radhakishan Mundhra
चित्र गुप्त पूजा
चित्र गुप्त पूजा
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
कैसा गीत लिखूं
कैसा गीत लिखूं
नवीन जोशी 'नवल'
सूखा शजर
सूखा शजर
Surinder blackpen
*जीवन में खुश रहने की वजह ढूँढना तो वाजिब बात लगती है पर खोद
*जीवन में खुश रहने की वजह ढूँढना तो वाजिब बात लगती है पर खोद
Seema Verma
💐प्रेम कौतुक-401💐
💐प्रेम कौतुक-401💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ज़िंदगी एक बार मिलती है
ज़िंदगी एक बार मिलती है
Dr fauzia Naseem shad
गीत
गीत
Shiva Awasthi
वक़्त का इतिहास
वक़्त का इतिहास
Shekhar Chandra Mitra
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर....
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
सांच कह्यां सुख होयस्यी,सांच समद को सीप।
सांच कह्यां सुख होयस्यी,सांच समद को सीप।
विमला महरिया मौज
बदले-बदले गाँव / (नवगीत)
बदले-बदले गाँव / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अपने
अपने
Shyam Sundar Subramanian
"पर्सनल पूर्वाग्रह" के लँगोट
*Author प्रणय प्रभात*
तनख्वाह मिले जितनी,
तनख्वाह मिले जितनी,
Satish Srijan
मुश्किलों पास आओ
मुश्किलों पास आओ
Dr. Meenakshi Sharma
জীবনের অর্থ এক এক জনের কাছে এক এক রকম। জীবনের অর্থ হল আপনার
জীবনের অর্থ এক এক জনের কাছে এক এক রকম। জীবনের অর্থ হল আপনার
Sakhawat Jisan
Love is beyond all the limits .
Love is beyond all the limits .
Sakshi Tripathi
मनमोहन छंद विधान ,उदाहरण एवं विधाएँ
मनमोहन छंद विधान ,उदाहरण एवं विधाएँ
Subhash Singhai
माँ
माँ
Arvina
मन चाहे कुछ कहना....!
मन चाहे कुछ कहना....!
Kanchan Khanna
Loading...