Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

अपने पंख तलाशो

अपने पंख तलाशो

अपने पंख तलाशो और उन्हें अपनी धरोहर कर लो

अपना आत्मविश्वास ढूंढो और उसे अपनी अमानत कर लो

जीवन संघर्ष है और संघर्ष ही जीवन

अपना हौसला तलाशो और उसे अपनी धरोहर कर लो

तेरी मंजिल ही है तेरे जीवन का अंतिम लक्ष्य

अपनी कोशिशों के कारवाँ को अपनी अमानत कर लो

क्यूं कर बिखर जाएँ सपने और सपनों का सच

खुद को कर बुलंद अपने प्रयासों को अपनी धरोहर कर लो

1 Like · 2 Comments · 150 Views
You may also like:
✍️"नंगे को खुदा डरे"✍️
'अशांत' शेखर
ज़मीं की गोद में
Dr fauzia Naseem shad
हुनर बाज
Seema 'Tu haina'
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
.✍️आशियाना✍️
'अशांत' शेखर
माँ +माँ = मामा
Mahendra Rai
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
"पिता और शौर्य"
Lohit Tamta
✍️कोई इंसान आया..✍️
'अशांत' शेखर
जीवन जीत हैं।
Dr.sima
✍️✍️उलझन✍️✍️
'अशांत' शेखर
हम लिखते क्यों हैं
पूनम झा 'प्रथमा'
तिश्ना तिश्ना सा है आज नफ्स मेरा।
Taj Mohammad
कोशिश करो
Dr fauzia Naseem shad
जाने कहां वो दिन गए फसलें बहार के
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
संस्कार
साहित्य गौरव
✍️✍️गांधी✍️✍️
'अशांत' शेखर
वो हक़ीक़त
Dr fauzia Naseem shad
प्रकृति
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सारे द्वार खुले हैं हमारे कोई झाँके तो सही
Vivek Pandey
गम तारी है।
Taj Mohammad
अल्फाज़ ए ताज भाग-5
Taj Mohammad
भूल जाओ इस चमन में...
मनोज कर्ण
तिरंगा मेरी जान
AMRESH KUMAR VERMA
पैरहन में बहुत छेद थे।
Taj Mohammad
काश तुम
Dr fauzia Naseem shad
मत्तगयंद सवैया ( राखी )
संजीव शुक्ल 'सचिन'
"कल्पनाओं का बादल"
Ajit Kumar "Karn"
समझता नहीं कोई
Dr fauzia Naseem shad
Why Not Heaven Have Visiting Hours?
Manisha Manjari
Loading...