Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*

महफूज रहे यारी अपनी, मेरे यार जुदा ना हो जाना
तू मिला है रब की रहमत से, तू मिल के कहीं ना खो जाना
महफूज रहे……………….
{1} तकदीर बदलती जग बदले, तू पहले जैसा ही रहना
यारी बने मिसाल दो हम हैं, कभी भूल से ना कहना
जिस्म हूँँ मैं, तू धड़कन मेरी, तुझे मैं हम राही माना
महफूज रहे……………….
{2} मेरी आस है तू अरदास है तू, मंजिल है तू मेरे सपनों की
तुझ बिन सूना ये जग लागे, मुझे परछाई तू अपनों की
दो दिन तू मुझसे क्या बिछड़ा, सब उजड़ गया मन ने माना
महफूज रहे………………..
खैमसिंह सैनी ( राजस्थान )
मो. 9266034599

3 Likes · 2 Comments · 678 Views
You may also like:
हे ईश्वर क्या मांगू
Anamika Singh
बेटी का संदेश
Anamika Singh
दाने दाने पर नाम लिखा है
Ram Krishan Rastogi
नज़रिया
Shyam Sundar Subramanian
जिस देश में शासक का चुनाव
gurudeenverma198
# मां ...
Chinta netam " मन "
क्यों किया एतबार
Dr fauzia Naseem shad
** भावप्रतिभाव **
Dr.Alpa Amin
खफा है जिन्दगी
Anamika Singh
✍️लापता हूं खुद से✍️
'अशांत' शेखर
सेहरा गीत परंपरा
Ravi Prakash
सही गलत का
Dr fauzia Naseem shad
अदम्य जिजीविषा के धनी श्री राम लाल अरोड़ा जी
Ravi Prakash
✍️मातम और सोग है...!✍️
'अशांत' शेखर
कायनात के जर्रे जर्रे में।
Taj Mohammad
सहरा से नदी मिल गई
अरशद रसूल /Arshad Rasool
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
परिंदे को गम सता रहा है।
Taj Mohammad
" मायूस हुआ गुदड़ "
Dr Meenu Poonia
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
'कैसी घबराहट'
Godambari Negi
शोहरत नही मिली।
Taj Mohammad
के के की याद में ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️जुर्म संगीन था...✍️
'अशांत' शेखर
हलाहल दे दो इंतकाल के
Varun Singh Gautam
दिल है कि मानता ही नहीं
gurudeenverma198
*पार्क में योग (कहानी)*
Ravi Prakash
तेरे मन मंदिर में जगह बनाऊं मै कैसे
Ram Krishan Rastogi
लगा हूँ...
Sandeep Albela
Loading...