Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Sep 2022 · 1 min read

अपना देश

आओ अपने देश वापस चलते हैं….

फिर वहां जाके बसर करते हैं

यू तो कोई भी नहीं

जिसको हमारां इंतजार होगा….

फिर भी ये क्या कम है..

के
अपना घर तो होगा…

कुछ तो अबो-हवा

तबदील होगी…

कुछ तो मौसम नया नया होगा..

कुछ अधूरा काम

भी पूरे करने होंगे.

कुछ अच्छे लोगो

से भी मिलना होगा…

.ना मुमकिन सी कुछ

बातो को मुमकिन करना होगा

ये काम भी हमे ही तो

करना होगा

बढ़े इल्ज़ाम दिये हैं
ज़माने
वालो ने ..अब सब को झूठा
सबित करना होगा।
हमे ये भी करना होगा ….शबीनाज

Language: Hindi
71 Views
You may also like:
भूख (मैथिली काव्य)
मनोज कर्ण
'राजूश्री'
पंकज कुमार कर्ण
बेटा बेटी है एक समान
Ram Krishan Rastogi
मुहावरे_गोलमाल_नामा
Anita Sharma
सांप्रदायिक उन्माद
Shekhar Chandra Mitra
*नजारा फिर न आएगा (मुक्तक)*
Ravi Prakash
पूर्व दिशा से सूरज रोज निकलते हो
Dr Archana Gupta
गणपति स्वागत है
Dr. Sunita Singh
मुकुट उतरेगा
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
चित्र गुप्त पूजा
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
कब तुम?
Pradyumna
Shyari
श्याम सिंह बिष्ट
सबूत
Dr.Priya Soni Khare
डर
Sushil chauhan
पहचान
Shashi kala vyas
आँखे
Anamika Singh
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का कल होगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नव गीत
Sushila Joshi
महामना मदन मोहन मालवीय
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Writing Challenge- सपना (Dream)
Sahityapedia
✍️बुद्ध का उदय
'अशांत' शेखर
बालगीत :- चाँद के चर्चे
Kanchan Khanna
वक़्त ने वक़्त की
Dr fauzia Naseem shad
💐क: अपि जन्म: ....💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ऐ मेरे व्यग्र मन....
Aditya Prakash
दिशा
Saraswati Bajpai
Subject- मां स्वरचित और मौलिक जन्मदायी मां
Dr Meenu Poonia
स्वच्छता
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
शेर
pradeep nagarwal
औरत और मां
Kaur Surinder
Loading...