Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jul 2016 · 1 min read

अन्तर्तम तक भिगो गए हैं………

जी करता है रोज़ सुनाऊँ, लिख दूं इतने सारे गीत,
जीवन लहरों का कोलाहल, कितने शान्त किनारे गीत ।

अन्त नहीं, आरम्भ कहाँ है, ओर छोर भी कहीं नहीं,
दूर क्षितिज गन्तव्य तुम्हारा, कठिन सफ़र बंजारे गीत ।

दग्ध हृदय को शीतलता दें, शायद सम्बल बन जाएं,
आँसू पीकर मैं जो लिखता दर्दीले दुखियारे गीत ।

पलकों की कोरों पर आँसू, पढ़ते पढ़्ते मत लाना,
रक्त ह्रदय का देकर मैंनें, सींचे और संवारे गीत ।

संगी साथी, नाते रिश्ते, सब अपने जब छोड़ गए,
मुझको धीर बंधाते आए, बनते रहे सहारे गीत ।

पल पल मैं तो रहा गूंथता, याद तुम्हारी शब्दों में,
लेकिन तुमको सदा लगे है, और किसी के प्यारे गीत ।

जब राधा आकुल व्याकुल सी, श्याम पुकारे गलियन में,
अन्तर्तम तक भिगो गए हैं, मेघ श्याम कजरारे गीत ।

-आर सी शर्मा ’आरसी

1 Like · 2 Comments · 297 Views
You may also like:
✍️आखरी सफर पे हूँ...✍️
'अशांत' शेखर
शराफत में इसको मुहब्बत लिखेंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
चाँद और जुगनू
Abhishek prabal
ग़ज़ल- इशारे देखो
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
" वर्ष 2023 धमाकेदार होगा बालीवुड बाक्स आफ़िस के लिए...
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
ख्वाब तो यही देखा है
gurudeenverma198
अभी बाकी है
Lamhe zindagi ke by Pooja bharadawaj
कैसी तेरी खुदगर्जी है
Kavita Chouhan
झुकी नज़रों से महफिल में सदा दीदार करता है।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
शादी का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती हैं
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिन्दगी।
Taj Mohammad
हम कलियुग के प्राणी हैं/Ham kaliyug ke prani Hain
Shivraj Anand
" विचित्र उत्सव "
Dr Meenu Poonia
Tumhara Saath chaiye ? Zindagi Bhar
Chaurasia Kundan
=*बुराई का अन्त*=
Prabhudayal Raniwal
जीवन
Mahendra Narayan
सावन का मौसम आया
Anamika Singh
सूरत -ए -शिवाला
सिद्धार्थ गोरखपुरी
✍️लक्ष्य ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
हमारी प्यारी मां
Shriyansh Gupta
होली के त्यौहार पर तीन कुण्डलियाँ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
JHIJHIYA DANCE IS A FOLK DANCE OF YADAV COMMUNITY
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
पुस्तक समीक्षा "छायावाद के गीति-काव्य"
दुष्यन्त 'बाबा'
#जातिबाद_बयाना
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
तीर तुक्के
सूर्यकांत द्विवेदी
रोग से गर्दन अकड़ी( कुंडलिया)
Ravi Prakash
गुरू
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
किताब का जादू
Shekhar Chandra Mitra
दर्द की हम दवा
Dr fauzia Naseem shad
Loading...