Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 2, 2017 · 1 min read

अनोखी सीख

नफरत को नफरत से मिटाने की अनोखी सीख हमें दे रहे ,
“बारूद के शोलों” से घरों का अंधेरा मिटाने की सीख दे रहे I

गुलशन के फूल बनने की नहीं है कोई चाहत ,
फूलों को सवांरने-निखारने की नहीं है चाहत,
फूलों के ठेकेदार बनने की है बस एक चाहत ,
माली बनकर “फूलों” पर राज करने की चाहत I

नफरत को नफरत से मिटाने की अनोखी सीख हमें दे रहे ,
आग के अंगारों के ऊपर आशियाना बनाने की सीख दे रहे I

बगिया को आग के हवाले करके उसपर फिर पानी छिड़कने से क्या फायदा ?
बगिया की हरियाली से ज्यादा अपना नफा-नुकसान देखने से क्या फायदा ?
बगिया के पौधों की नस्लों को तहस-नहस कर फिर खाद देने से क्या फायदा ?
“ मालिक” की बगिया में नफरत का कंटीला पौधा लगाने से हमें क्या फायदा ?

नफरत को नफरत से मिटाने की अनोखी सीख हमको दे रहे ,
प्यार की बगिया में नागफनी का पौधा लगाने की सीख दे रहे I

नादान – इंसान, एक दिन तू भी बगिया की माटी में मिल जायेगा ,
टूटे पत्ते की तरह पेड़ की डाल से फिर कभी भी नहीं जुड़ पायेगा ,
सत्ता और गुमान का छद्म घरोंदा भी तुझसे बहुत पीछे छूट जायेगा ,
“राज” इंसानियत का दामन ही तुझे “ मालिक ”से रूबरू कराएगा I

नफरत को नफरत से मिटाने की अनोखी सीख हमें दे रहे ,
“बारूद के शोलों” से घर का चिराग जलाने की सीख दे रहे I

देशराज “राज”

482 Views
You may also like:
गुरू
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
" स्वतंत्रता क्रांति के सिंह पुरुष पंडित दशरथ झा "
DrLakshman Jha Parimal
नवगीत
Mahendra Narayan
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
मेहनत
Arjun Chauhan
*आओ बात करें चंदा की (मुक्तक)*
Ravi Prakash
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
यही है मेरा ख्वाब मेरी मंजिल
gurudeenverma198
✍️नफरत की पाठशाला✍️
'अशांत' शेखर
✍️रिश्तेदार.. ✍️
Vaishnavi Gupta
घर की पुरानी दहलीज।
Taj Mohammad
Ye Sochte Huye Chalna Pad Raha Hai Dagar Main
Muhammad Asif Ali
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
*सारथी बनकर केशव आओ (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल- राना सवाल रखता है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
लांगुरिया
Subhash Singhai
✍️घर घर तिरंगा..!✍️
'अशांत' शेखर
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
आईना हम कहाँ
Dr fauzia Naseem shad
- मेरा प्रेम कागज,कलम व पुस्तक -
bharat gehlot
अपना अंजाम फिर आप
Dr fauzia Naseem shad
फिर कभी तुम्हें मैं चाहकर देखूंगा.............
Nasib Sabharwal
✍️हार और जित✍️
'अशांत' शेखर
पैसे की महिमा
Ram Krishan Rastogi
बयां सारा हम हाले दिल करेंगे।
Taj Mohammad
✍️अमृताचे अरण्य....!✍️
'अशांत' शेखर
सास और बहु
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...