Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jul 2022 · 1 min read

अनामिका के विचार

बुलंदी की मिट्टी पर
सफलता के खुशबू
तब तक नही आती है
जब तक काँटो से लड़कर
जमीं पर फूल नही खिलता है।

ऐसे तो जीवन के सभी रंग अच्छे है
पर मेहनत के रंग से अच्छा
कोई रंग नही होता है।

खामोशी अच्छा है विषम
परिस्थिति से लड़ने के लिए,
मगर जरूरत से ज्यादा खामोशी
कायरता कहलाती है।

हर चीज चुप रहने से
नही मिल जाता है
बच्चे को भी भुख लगने पर
माँ के सामने रोना पड़ता है।

अनामिका

Language: Hindi
Tag: कोटेशन
10 Likes · 10 Comments · 319 Views
You may also like:
गाँधी जी की लाठी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मजदूरों का जीवन।
Anamika Singh
✍️सोच विचार✍️
'अशांत' शेखर
“ लूकिंग टू लंदन एण्ड टाकिंग टू टोकियो “
DrLakshman Jha Parimal
*प्रभु तारों-सा चमकाना (गीत)*
Ravi Prakash
दिल की चाहत
कवि दीपक बवेजा
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
गंतव्यों पर पहुँच कर भी, यात्रा उसकी नहीं थमती है।
Manisha Manjari
कलम के सिपाही
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कविता संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
अब और नहीं सोचो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ज़िंदगी का ये
Dr fauzia Naseem shad
प्रेम
लक्ष्मी सिंह
व्याकुल हुआ है तन मन, कोई बुला रहा है।
सत्य कुमार प्रेमी
विभाजन की विभीषिका
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुंडलियाँ
प्रीतम श्रावस्तवी
“ माँ गंगा ”
DESH RAJ
उड़ान
Saraswati Bajpai
Break-up
Aashutosh Rajpoot
बहुत खूबसूरत
shabina. Naaz
कब आओगे
dks.lhp
बाल कहानी- गणतंत्र दिवस
SHAMA PARVEEN
शब्दों के अर्थ
सूर्यकांत द्विवेदी
महफिल अफसूर्दा है।
Taj Mohammad
लड़ते रहो
Vivek Pandey
रावण दहन
Ashish Kumar
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
Little baby !
Buddha Prakash
प्रेरक संस्मरण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ममता
Rashmi Sanjay
Loading...