Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 12, 2021 · 1 min read

अधूरे रिश्तों को, बनाओ न

कण-कण की भाँति
मुझको पहचानो न
तन-मन में दबी बात
धीरे-धीरे गुनगुनायों न
दूर शिखर में खड़ी कही
मुझसे मिलने आओ न
परछाई बन मेरी तूम
घंघोर बादल लाओ न
अधूरे रिश्तों को,
बनाओ न

सांसों से सांसें बांधने वाली
कोई कहर बरसायों न
कठिन राहों पे हुँ मैं खड़ा
चाँदनी की शीतलता के नीचे बतलाओ न
ख्वाब देखु तेरे तो
थोड़ा-सा मुस्कुराओ न
कान आड़े खड़ा हुँ मैं
झंकृत अपनी सुनाओ न
अधूरे रिश्तों को,
बनाओ न

पूरा हो हुँ तुझसे ही
कोई ऐसा मंजर लाओ न
हे,भगवान विनती मेरी
उसे भी जाके बताओ न
मर जाऊगा तब मिलेगी
ऐसे सपनें मत दिखाओ न
तन्हाइयों से घिरा हुँ मैं
जल्दी से उससे मिलवायों न
अधूरे रिश्तों को,
बनाओ न.
स्वरचित
‘शेखर सागर’

2 Likes · 2 Comments · 176 Views
You may also like:
मंजिल
AMRESH KUMAR VERMA
जब से आया शीतल पेय
श्री रमण 'श्रीपद्'
हासिल ना हुआ।
Taj Mohammad
*ससुराला : ( काव्य ) वसंत जमशेदपुरी*
Ravi Prakash
एक तोला स्त्री
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
जिसको चुराया है उसने तुमसे
gurudeenverma198
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
ज़िन्दगी
akmotivation6418
वो चुप सी दीवारें
Kavita Chouhan
हिम्मत न हारों
Anamika Singh
साहब का कुत्ता (हास्य व्यंग्य कहानी)
दुष्यन्त 'बाबा'
"सुन नारी मैं माहवारी"
Dr Meenu Poonia
पति पत्नी की नोक झोंक(हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
शहीद-ए-आजम भगतसिंह
Dalveer Singh
चिड़िया का घोंसला
DESH RAJ
# निनाद .....
Chinta netam " मन "
✍️शर्तो के गुलदस्ते✍️
'अशांत' शेखर
हो गयी आज तो हद यादों की
Anis Shah
बेरोजगारी जवान के लिए।
Taj Mohammad
वज्र तनु दुर्योधन
AJAY AMITABH SUMAN
महाकवि भवप्रीताक सुर सरदार नूनबेटनी बाबू
श्रीहर्ष आचार्य
सिर्फ तेरी वजह से
gurudeenverma198
सितम देखते हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
योग क्या है और इसकी महत्ता
Ram Krishan Rastogi
बुलबुला
मनोज शर्मा
पानी के लिए लड़ेगी दुनिया, नहीं मिलेगा चुल्लू भर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐संसारे कः अपि स्व न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अल्फाज़ ए ताज भाग-3
Taj Mohammad
मेरी चाह....।।
Rakesh Bahanwal
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
Loading...