Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jul 2022 · 1 min read

अधूरी बातें

बातें रह गई थी अधूरी
पिछली मुलाकात में
हो जाए अब तो वो पूरी
हैं आज भी तेरे इंतज़ार में

कोई भी चीज़ अधूरी
कभी अच्छी नहीं होती
ध्यान बटाती है बार बार
जबतक वो पूरी नहीं होती

कहीं ये साजिश तो नहीं है
तुम्हारी मुझे सताने की
तम्माना हो रही है मुझे तो
हाल ए दिल बताने की

थोड़ा तरसाना तो अच्छा है
जुदाई का गम भी अच्छा है
लेकिन तुम छोड़ जाओ मुझे
किसने कहा ये भी अच्छा है

अब आ ही जा, और न सता
काम के बहाने अब और न बना
आकर पास मेरे अब तो सनम
कुछ मेरी सुन और कुछ अपनी सुना

वक्त के अंधेरों से डरता हूं
अकेले में आहें भरता हूं
अब तो आएगा तू जल्दी ही
मैं इसी आस में रहता हूं

तुम्हें बुला रही वो अधूरी बातें
इन वीरान रातों में आकर मुझे जगा दे
अब सही नहीं जाती ये जुदाई मुझसे
कैसे जीयूं अब मैं, आकर मुझे बता दे।

Language: Hindi
8 Likes · 265 Views
You may also like:
नात،،सारी दुनिया के गमों से मुज्तरिब दिल हो गया।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
✍️साँसों को हवाँ कर दे✍️
'अशांत' शेखर
तितली
Manshwi Prasad
मिटटी की मटकी
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
फ़साने तेरे-मेरे
VINOD KUMAR CHAUHAN
मुझे मालूम है तु मेरा नहीं
Gouri tiwari
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
जीवन एक यथार्थ
Shyam Sundar Subramanian
हुक़ूमत के ग़ुलाम नहीं हम
Shekhar Chandra Mitra
“ प्रतिक्रिया ,समालोचना आ टिप्पणी “
DrLakshman Jha Parimal
शुभ करवा चौथ
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ऐ उम्मीद
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ख्वाब हो गए वो दिन
shabina. Naaz
मेरे जज्बात
Anamika Singh
राम राम
Sunita Gupta
आस का दीपक
Rekha Drolia
साथ आया हो जो एक फरिश्ता बनकर
कवि दीपक बवेजा
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
श्री गणेश वंदना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*प्लीज और सॉरी की महिमा {#हास्य_व्यंग्य}*
Ravi Prakash
मंज़िल
Ray's Gupta
अब हार भी हारेगा।
Chaurasia Kundan
कुंडलिया छंद ( योग दिवस पर)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हमारा हरियाणा प्रदेश
Ram Krishan Rastogi
💐प्रेम की राह पर-26💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
मध्यप्रदेश पर कुण्डलियाँ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
वो तुम्हीं तो हो
Dr fauzia Naseem shad
★तक़दीर ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
देख सिसकता भोला बचपन...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...