Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Aug 2022 · 1 min read

*अद्‌भुत है अनमोल देह (गीत)*

*अद्‌भुत है अनमोल देह (गीत)*
________________________________
अद्‌भुत है अनमोल देह इसकी कीमत पह‌चानो
1
कितनी सुंदर जटिल देह की संरचना हम पाते
अंग-अंग की देख सुगढ़‌ता अचरज में भर जाते
जिस कारीगर की यह रचना उसकी क्षमता मानो
2
टूट-फूट हड्‌डी में है तो खर्चा लाखों आता
दिल-दिमाग या दाँत-आँत सब मूल्यवान कहलाता
असली जैसा नया नहीं मिल सकता यह सच जानो
3
देह अनोखी है यह इसने ब्रह्मदेव को पाया
परम-शून्य इसके भीतर ही ध्यान लगाकर आया
इसकी अद्‌भुत क्षमताऍं सब ढूॅंढ़ोगे यह ठानो
_____________________________
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा
रामपुर उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 5451

Language: Hindi
Tag: गीत
40 Views
You may also like:
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
बुद्धत्व से बुद्ध है ।
Buddha Prakash
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
तुमसे मिलने से पहले।
Taj Mohammad
कितने रूप तुम्हारे देखे
Shivkumar Bilagrami
तेरा बस इंतज़ार रहता है
Dr fauzia Naseem shad
दिव्यांग भविष्य की नींव
Rashmi Sanjay
* मनवा क्युं दुखियारा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
विसर्जन गीत
Shiva Awasthi
भाग्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*पत्नी ही प्रेयसी है (गीतिका)*
Ravi Prakash
Writing Challenge- धन (Money)
Sahityapedia
अकेलेपन ने सिखा दिया
Kaur Surinder
- ग़ज़ल ( चंद अश'आर )
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
Rain (wo baarish ki yaadein)
Nupur Pathak
रोना
Dr.S.P. Gautam
नया साल सबको मुबारक
Akib Javed
★ हिन्दू हूं मैं हिन्दी से ही मेरी पहचान है।...
★ IPS KAMAL THAKUR ★
आया रक्षा बंधन
जगदीश लववंशी
समारंभ
Utkarsh Dubey “Kokil”
✍️वो मेरी तलाश में…✍️
'अशांत' शेखर
संस्कार जगाएँ
Anamika Singh
चीख की लय
Shekhar Chandra Mitra
हम रात भर यूहीं तरसते रहे
Ram Krishan Rastogi
लो विदा अब
Dr. Girish Chandra Agarwal
चमत्कार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
थकते नहीं हो क्या
सूर्यकांत द्विवेदी
अक्सर सोचतीं हुँ.........
Palak Shreya
#पोस्टमार्टम-
*Author प्रणय प्रभात*
तितलियाँ
RAJA KUMAR 'CHOURASIA'
Loading...