Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#17 Trending Author

अद्भभुत है स्व की यात्रा

अद्भभुत है स्व की यात्रा
संसार से हमें मिलाती है
अद्भभुत है स्व की यात्रा
संसार से मुक्त कराती है
स्वावलंबन बनकर साधन देती
स्वाभिमान का बोध कराती है
स्वाधीनता बनकर तत्व को
आनंद तक ले जाती है
इन सबसे ऊपर उठकर
परमानंद से हमें मिलाती है
अद्भभुत है स्व की यात्रा
अंतस तक ले जाती है
आत्मा से परमात्मा तक
एकाकार कराती है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

2 Likes · 2 Comments · 98 Views
You may also like:
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
निर्गुण सगुण भेद..?
मनोज कर्ण
यही तो मेरा वहम है
Krishan Singh
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
✍️तंगदिली✍️
"अशांत" शेखर
निस्वार्थ पापा
Shubham Shankhydhar
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
🍀🌺प्रेम की राह पर-42🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जहर कहां से आया
Dr. Rajeev Jain
✍️कधी कधी✍️
"अशांत" शेखर
मनस धरातल सरक गया है।
Saraswati Bajpai
हिन्दी थिएटर के प्रमुख हस्ताक्षर श्री पंकज एस. दयाल जी...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हे मनुष्य!
Vijaykumar Gundal
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
मेरी हस्ती
Anamika Singh
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
इतना शौक मत रखो इन इश्क़ की गलियों से
Krishan Singh
वेवफा प्यार
Anamika Singh
सेहरा गीत परंपरा
Ravi Prakash
अश्रुपात्र...A glass of tears भाग - 1
Dr. Meenakshi Sharma
स्वेद का, हर कण बताता, है जगत ,आधार तुम से।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
माँ तुम अनोखी हो
Anamika Singh
अरदास
Vikas Sharma'Shivaaya'
गुणगान क्यों
spshukla09179
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
अशांत मन
Mahender Singh Hans
कच्चे आम
Prabhat Ranjan
Loading...