Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Mar 2023 · 1 min read

अज़ीब था

फूलों से चोट खाता था पत्थर अजीब था
कहते थे जिसको ज़ालिम रहबर अजीब था

ज़ख्मों के हर हिसाब पू्छता है कौन फिर
ग़ैरों को अपना कर गया खंज़र अजीब था

सजदे की तरह नज़रे उठाकरके झुक गया
टूटा जो आईने सा वो मंज़र अजीब था

दहशत दिलो दिमाग़ में भर के खुशी दिया
वो फौज़ थी अज़ीब वो क़ैसर अजीब था

भटका हुआ था बनके मसीहा ‘महज़’ मेरा
उसका नज़रिया ख़ास और तेवर अजीब था

Language: Hindi
2 Likes · 52 Views

Books from Mahendra Narayan

You may also like:
बुरा समय था
बुरा समय था
Swami Ganganiya
प्रिये
प्रिये
Kamal Deependra Singh
नज़र आसार-ए-बारिश आ रहे हैं
नज़र आसार-ए-बारिश आ रहे हैं
Anis Shah
कवि
कवि
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सदियों से रस्सी रही,
सदियों से रस्सी रही,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
“गुरुर मत करो”
“गुरुर मत करो”
Virendra kumar
ये ज़िंदगी क्या सँवर रही….
ये ज़िंदगी क्या सँवर रही….
Rekha Drolia
ऐसी ही है मेरी मोहब्बत
ऐसी ही है मेरी मोहब्बत
gurudeenverma198
💐प्रेम कौतुक-334💐
💐प्रेम कौतुक-334💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्यार में
प्यार में
श्याम सिंह बिष्ट
उसकी सौंपी हुई हर निशानी याद है,
उसकी सौंपी हुई हर निशानी याद है,
Vishal babu (vishu)
!!महात्मा!!
!!महात्मा!!
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
प्रणय 7
प्रणय 7
Ankita Patel
महंगाई नही बढ़ी खर्चे बढ़ गए है
महंगाई नही बढ़ी खर्चे बढ़ गए है
Ram Krishan Rastogi
Meri asuwo me use rokane ki takat hoti
Meri asuwo me use rokane ki takat hoti
Sakshi Tripathi
तन्हाई के पर्दे पर
तन्हाई के पर्दे पर
Surinder blackpen
कबीर: एक नाकाम पैगम्बर
कबीर: एक नाकाम पैगम्बर
Shekhar Chandra Mitra
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
*मनु-शतरूपा ने वर पाया (चौपाइयॉं)*
*मनु-शतरूपा ने वर पाया (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
ताजा समाचार है?
ताजा समाचार है?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
किस बात का गुमान है यारों
किस बात का गुमान है यारों
Anil Mishra Prahari
खिल जाए अगर कोई फूल चमन मे
खिल जाए अगर कोई फूल चमन मे
shabina. Naaz
अंकित के हल्के प्रयोग
अंकित के हल्के प्रयोग
Ms.Ankit Halke jha
वार्तालाप अगर चांदी है
वार्तालाप अगर चांदी है
Pankaj Sen
गौरवमय पल....
गौरवमय पल....
डॉ.सीमा अग्रवाल
"दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
*जातिवाद का खण्डन*
*जातिवाद का खण्डन*
Dushyant Kumar
मरहम नहीं बस दुआ दे दो ।
मरहम नहीं बस दुआ दे दो ।
Buddha Prakash
"ना नौ टन तेल होगा,
*Author प्रणय प्रभात*
हाँ मैं किन्नर हूँ…
हाँ मैं किन्नर हूँ…
Anand Kumar
Loading...