Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#25 Trending Author

✍️अजनबी की तरह…!✍️

✍️अजनबी की तरह…!✍️
—————————————————-//
ये दर-ओ-दीवार किसी अजनबी की तरह
ये शहर मुझसे मिलता है अजनबी की तरह

उसके दीवार पे पाठशाला वाली तस्वीर थी
आज वो दोस्त मिला था,अजनबी की तरह

अंजानी राह में किसी ने मुझसे रास्ता पूँछा
उनसे मुलाक़ात हो गयी अजनबी की तरह

मुश्ताक़ तौबा भीड़ होती थी कल तक यहाँ
आज महफ़िल रुसवा है अजनबी की तरह

उम्र भर एक झूठ मेरा हमसाया बनकर रहा
वो सच से मिला तो एक अजनबी की तरह

इतने भरे नहीं थे वो प्याले के मैं गिर जाता
मैक़दे में खड़ा हूँ ,किसी अजनबी की तरह
———————————————————–//
✍️”अशांत”शेखर✍️
01/06/2022

1 Like · 2 Comments · 87 Views
You may also like:
# बारिश का मौसम .....
Chinta netam " मन "
दुनिया की रीति
AMRESH KUMAR VERMA
✍️महानता✍️
'अशांत' शेखर
दिलों से नफ़रतें सारी
Dr fauzia Naseem shad
Corporate Mantra of Politics
AJAY AMITABH SUMAN
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
बेटी जब घर से भाग जाती है
Dr. Sunita Singh
जिंदगी की अभिलाषा
Dr.Alpa Amin
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
✍️✍️तो सूर्य✍️✍️
'अशांत' शेखर
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
शुभ स्वतंत्रता दिवस मनाए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मोहब्बत कुआं
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
मोहब्बत के गम ने।
Taj Mohammad
परिस्थिति
AMRESH KUMAR VERMA
कोशिश करो
Dr fauzia Naseem shad
भावना
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️ मसला क्यूँ है ?✍️
'अशांत' शेखर
पढ़ाई-लिखाई एक बोझ
AMRESH KUMAR VERMA
$तीन घनाक्षरी
आर.एस. 'प्रीतम'
मैं तुम्हारे स्वरूप की बात करता हूँ
gurudeenverma198
दौर।
Taj Mohammad
कुछ समझ में
Dr fauzia Naseem shad
पिता की अभिलाषा
मनोज कर्ण
महादेवी वर्मा जी की वेदना
Ram Krishan Rastogi
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️दिल बहल जाता है।✍️
'अशांत' शेखर
बुआ आई
राजेश 'ललित'
कविता: देश की गंदगी
Deepak Kohli
Loading...