Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Sep 2022 · 1 min read

अच्छा आहार, अच्छा स्वास्थ्य

ग्रहण करो अच्छा आहार,
दूर होंगे सभी विकार।
शक्ति का भंडार है आहार पौष्टिक,
लगते हैं यह अति स्वादिष्ट।
खाओगे जब तुम प्रतिदिन फल,
होगा तुम्हारा अच्छा शरीर और अच्छा कल।
फास्ट फूड से दूर रहो,
पौष्टिकता से भरपूर रहो।
वायदा करो तुम यह पक्का,
ग्रहण करोगे हरी सब्जियां और आहार अच्छा।
– ज्योति खारी

Language: Hindi
Tag: कविता
8 Likes · 6 Comments · 112 Views
You may also like:
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Er.Navaneet R Shandily
शुभ करवा चौथ
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
✍️अहज़ान✍️
'अशांत' शेखर
विपक्ष की सुझबुझ
Shekhar Chandra Mitra
बचपन को जिसने अपने
Dr fauzia Naseem shad
अपने और जख्म
Anamika Singh
कुनमुनी नींदे!!
Dr. Nisha Mathur
🙏स्कंदमाता🙏
पंकज कुमार कर्ण
क्या रखा है, वार (युद्ध) में?
Dushyant Kumar
टूटा तो
shabina. Naaz
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
हनुमंता
Dhirendra Panchal
महाकवि दुष्यंत जी की पत्नी राजेश्वरी देवी जी का निधन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
महापंडित ठाकुर टीकाराम (18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित)
श्रीहर्ष आचार्य
गीत - कौन चितेरा चंचल मन से
Shivkumar Bilagrami
मां का आंचल
VINOD KUMAR CHAUHAN
*बुंदेली दोहा बिषय- डेकची*
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
💔💔...broken
Palak Shreya
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
प्रकृति कविता
Harshvardhan "आवारा"
*जेलों में जाते नेताजी 【हास्य-व्यंग्य गीतिका】*
Ravi Prakash
आइए डिजिटल उपवास की ओर बढ़ते हैं!
Deepak Kohli
पहले वाली मोहब्बत।
Taj Mohammad
आस्तीक भाग-दो
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बिटिया दिवस
Ram Krishan Rastogi
दिल की ये आरजू है
श्री रमण 'श्रीपद्'
Writing Challenge- नृत्य (Dance)
Sahityapedia
जी हाँ, मैं
gurudeenverma198
Loading...