Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2022 · 1 min read

अगर सूर्यास्त हुआ है तो कल सूर्योदय भी होगा—

अगर सूर्यास्त हुआ है तो कल सूर्योदय भी होगा।
अगर शाम वीरान हैं तो सहर आबाद भी होगा।।
पर थोड़ा सा वक्त का इंतजार तो कर ले पगले,
हर दिन अपना होगा और मुकाम भी अपना होगा।।

Language: Hindi
Tag: शेर
2 Likes · 227 Views
You may also like:
एक अलग सी दीवाली
एक अलग सी दीवाली
Rashmi Sanjay
भारत के बीर सपूत
भारत के बीर सपूत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
चलो भगवन श्रीराम के नाम पर।
चलो भगवन श्रीराम के नाम पर।
Taj Mohammad
बेटियाँ
बेटियाँ
विजय कुमार अग्रवाल
हालात-ए-दिल
हालात-ए-दिल
लवकुश यादव "अज़ल"
सुकरात के मुरीद
सुकरात के मुरीद
Shekhar Chandra Mitra
*बेवजह कुछ लोग जलते हैं 【हिंदी गजल/गीतिका】*
*बेवजह कुछ लोग जलते हैं 【हिंदी गजल/गीतिका】*
Ravi Prakash
रावण कौन!
रावण कौन!
Deepak Kohli
नवदुर्गा का महागौरी स्वरूप
नवदुर्गा का महागौरी स्वरूप
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इश्क़ रूह से मज़ाक लगता है
इश्क़ रूह से मज़ाक लगता है
Dr fauzia Naseem shad
✍️कुदरत और फ़ितरत
✍️कुदरत और फ़ितरत
'अशांत' शेखर
मलूल
मलूल
Satish Srijan
नाजुक
नाजुक
जय लगन कुमार हैप्पी
"विचित्र संसार"
Dr. Kishan tandon kranti
मैंने पत्रों से सीखा
मैंने पत्रों से सीखा
Ankit Halke jha
विश्वास की मंजिल
विश्वास की मंजिल
Buddha Prakash
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय- 1.
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय- 1.
Pravesh Shinde
मन हो अगर उदास
मन हो अगर उदास
कवि दीपक बवेजा
🌹Prodigy Love-31🌹
🌹Prodigy Love-31🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बाँध लू तुम्हें......
बाँध लू तुम्हें......
Dr Manju Saini
शीर्षक :- आजकल के लोग
शीर्षक :- आजकल के लोग
Nitish Nirala
हम देखते ही रह गये
हम देखते ही रह गये
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
*सीमा*
*सीमा*
Dr Rajiv
■ अहसास
■ अहसास
*Author प्रणय प्रभात*
तेरी यादें
तेरी यादें
RAJA KUMAR 'CHOURASIA'
बेघर हुए शहर में तो गांव में आ गए
बेघर हुए शहर में तो गांव में आ गए
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
हो साहित्यिक गूँज का, कुछ  ऐसा आगाज़
हो साहित्यिक गूँज का, कुछ ऐसा आगाज़
Dr Archana Gupta
शायरी की तलब
शायरी की तलब
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गज़ल
गज़ल
जगदीश शर्मा सहज
छा जाओ आसमान की तरह मुझ पर
छा जाओ आसमान की तरह मुझ पर
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Loading...