Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author
May 7, 2022 · 1 min read

अंदाज़।

अंदाज़ ही उसका अलग होता है।
यूं जिसके सीने में जिगर होता है।।

हवा का रुख खुद ही मुड़ जाता है।
शाहशाहों का आगाज़ जुदा होता है।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

1 Like · 2 Comments · 72 Views
You may also like:
और मैं .....
AJAY PRASAD
जन्म दिन की बधाई..... दोस्त को...
Dr. Alpa H. Amin
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद( गीत )
Ravi Prakash
मेरे पापा!
Anamika Singh
" सरोज "
Dr Meenu Poonia
तीन किताबें
Buddha Prakash
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr. Alpa H. Amin
गरीब की बारिश
AMRESH KUMAR VERMA
हम आजाद पंछी
Anamika Singh
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
महेनतकश इंसान हैं ... नहीं कोई मज़दूर....
Dr. Alpa H. Amin
यह तो वक़्त ही बतायेगा
gurudeenverma198
क्या गढ़ेगा (निर्माण करेगा ) पाकिस्तान
Dr.sima
संगीतमय गौ कथा (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
💐प्रेम की राह पर-31💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जिंदगी और करार
ananya rai parashar
इन्द्रवज्रा छंद (शिवेंद्रवज्रा स्तुति)
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
✍️दिल ही बेईमान था✍️
"अशांत" शेखर
✍️गर्व करो अपना यही हिंदुस्थान है✍️
"अशांत" शेखर
सत्य कभी नही मिटता
Anamika Singh
बुध्द गीत
Buddha Prakash
पिता कुछ भी कर जाता है।
Taj Mohammad
जो... तुम मुझ संग प्रीत करों...
Dr. Alpa H. Amin
सोने की दस अँगूठियाँ….
Piyush Goel
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
जीवन मेला
DESH RAJ
यह जिन्दगी है।
Taj Mohammad
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
🌷मनोरथ🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
Loading...