Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 12, 2016 · 1 min read

अंतर्द्वंद

किसी का
किसी पर
कैसा अधिकार
मैं तू से या
तू मैं से
जीवन्त तो नहीं
कैसे मुगालते
पल रहे
क्यूं हम
खुद को ही
छल रहे
निकल नहीं
पाते जीवन भर
फिर भी
खुद से ही
लड़ रहे।

1 Like · 173 Views
You may also like:
Rainbow in the sky 🌈
Buddha Prakash
खुशबू
DESH RAJ
पानी के लिए लड़ेगी दुनिया, नहीं मिलेगा चुल्लू भर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
राहतें ना थी।
Taj Mohammad
समय
AMRESH KUMAR VERMA
पहला प्यार
Dr. Meenakshi Sharma
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
1-साहित्यकार पं बृजेश कुमार नायक का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
" ना रही पहले आली हवा "
Dr Meenu Poonia
मनुज शरीरों में भी वंदा, पशुवत जीवन जीता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बेपर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
विश्व पुस्तक दिवस (किताब)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दो जून की रोटी उसे मयस्सर
श्री रमण
कलम
Dr Meenu Poonia
(((मन नहीं लगता)))
दिनेश एल० "जैहिंद"
तुम ही ये बताओ
Mahendra Rai
तेरी जान।
Taj Mohammad
✍️बचपन था जादुई चिराग✍️
"अशांत" शेखर
हमारे पापा
अनामिका सिंह
"हमारी मातृभाषा हिन्दी"
Prabhudayal Raniwal
🌺🌺🌺शायद तुम ही मेरी मंजिल हो🌺🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
#कविता//ऊँ नमः शिवाय!
आर.एस. 'प्रीतम'
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
भारत रत्न श्री नानाजी देशमुख ********
Ravi Prakash
याद आते हैं।
Taj Mohammad
ये दिल टूटा है।
Taj Mohammad
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
एक थे वशिष्ठ
Suraj Kushwaha
सास और बहु
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...