साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

** पवित्रता मन में बसी होनी चाहिए **

भूरचन्द जयपाल पवित्रता मन में बसी होनी चाहिए केवल लोगों को दिखाने के लिए नही प्यार जिसे भी करो चाहे भगवान से महज दिखावे के लिए [...]

Read more

रोशनी से आशियाना यारों अक्सर जलता है

मदन मोहन सक्सेना
रोशनी से आशियाना यारों अक्सर जलता है जाना जिनको कल अपना आज हुए बह [...]

उजड़े ख्वाबो का कोई मंजर लगता है

Kapil Kumar
उजड़े ख्वाबों का कोई मंजर सा लगता है बिखरी यादों का कोई समंदर सा [...]

और इससे ज्यादा गम क्या मिलेगा

Kapil Kumar
और इससे ज्यादा गम क्या मिलेगा कसाब हैं दुश्मन रहम क्या [...]

एक खुद पसंद ग़ज़ल

Pravin Tripathi
एक खुद पसंद ग़ज़ल... काफ़िया "अर" का स्वर रदीफ़ देखते रहे बह्र 221 2121 1221 [...]

अंगार वीर ने उगले है

Kavi DrPatel
अंगार वीर ने उगले है , कुछ ऐसा तुम श्रृंगार करो । रण में जो घाव मिले [...]

भ्रम

मदन मोहन सक्सेना
कभी मानब ये सोचकर भ्रम में रहता है वह कितना सक्षम ,समर्थ तथा [...]

गूंगी गुड़िया

आशीष त्रिवेदी
रसोई में काम करते हुए गीता सुन रही थी. चंद महीनों पहले ही ब्याह कर आई [...]

कविता

प्रमिला तिवारी
"सफर तुमसे" अनचिन्हे से राहों मे निशां कदमों के तुम्हारे चिन्हित [...]

कपकपाती थरथराती ये सज़ा क्यों है?

Neeraj Chauhan
कपकपाती थरथराती ये सज़ा क्यों है फिर भी ठंड का इतना मज़ा क्यों [...]

उनकी महक से मौसम भी बहकने लगा

Shanky Bhatia
उनसे मिलकर ख़ुशी कुछ ऐसी मिली, कि होठों के साथ आँखें भी मुस्काने [...]

आपके होठों पे इक मुस्कान बिखर जाए तो अच्छा

Shanky Bhatia
आपके होठों पे इक मुस्कान बिखर जाए तो अच्छा। इन निगाहों की तक़दीर [...]

ऑनलाइन प्यार

Shanky Bhatia
पहले वो सूरत दिखाने खिड़की पर आया करते थे, अब हमारे पोस्ट्स व् [...]

वो हमें अपनी ज़िन्दगी में बाँध लेना चाहते हैं

Shanky Bhatia
वो हमें अपनी ज़िन्दगी में बाँध लेना चाहते हैं, भला बहती हवा को कोई [...]

वो चाहते हैं उनके शब्दों को महसूस करें हम

Shanky Bhatia
वो चाहते हैं उनके शब्दों को महसूस करें हम, नज़रों से नज़र हटे, तो [...]

नज़रंदाज़

Shanky Bhatia
वो हमारे लिए ज़माने को नज़रअंदाज़ करने लगे हैं, कुछ न होते भी जैसे [...]

पहली नजर में उनके मुरीद हुए

Shanky Bhatia
ये तो हम जानते हैं कैसे बीत रहे हैं पलछिन, एक अरसा बीत गया है उनकी [...]

हमारे लबों पे उनका नाम

Shanky Bhatia
मन्नतों के बाद उन्होंने दरख्वास्त की है, हमारे लबों से अपना नाम [...]

दिल की गहराइयों से वो हमें चाहती है

Shanky Bhatia
हरपल मुश्किलों से खुद को वो झुठलाती है, हमसे नफरत करती है, खुदको ये [...]

आवारा कुत्ते ..

शिवदत्त श्रोत्रिय
दफ़्तर से देर रात जब घर को जाता हूँ चन्द कदमो के फ़ासले मे खो जाता [...]

अब सवाले इश्क़ पर तू हाँ कहेगा या नहीं

चन्‍द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’
पेचो ख़म बातों का, तेरी ज़ुल्फ़ों सा सुलझा नहीं अब सवाले इश्क़ पर तू हाँ [...]

सूरज के घर मची खलबली

बसंत कुमार शर्मा
जब भी धरती पर शमा जली सूरज के घर मची खलबली गांधी के फोटो के [...]

खंड खंड मैं-अखण्ड तुम

shuchi bhavi
।।खंड-खंड मैं,अखण्ड "तुम"।। खंड खंड होता है इंसान संपूर्ण तो सिर्फ़ [...]

हम उनके होंठों पर बिखरी मुस्कान देखते रहे

Shanky Bhatia
वो हम पर मज़ाक के वार करते रहे, हम ख़ामोशी से सब सहते रहे, वो अपनी जीत [...]

यकीं है हमें

Shanky Bhatia
हर कदम हर राह एक उम्मीद है, दिखोगे तुम, यकीं है हमें। हमने जब भी [...]

उसने किया सवाल…

Shanky Bhatia
उसने किया सवाल, गर मैं न रहूँ, ज़िन्दगी में कोई कमी तो न होगी। हमने [...]

आ पास मेरे

Shanky Bhatia
आ पास मेरे, कानों में तेरे, भुला कर मजबूरियाँ, मैं दिल की बात करूँ। आ [...]

दिवंगत परिजन

Shanky Bhatia
हमारे परिवार के प्रेरणास्रोत दिवंगत परिजनों को हृदय से [...]

उनकी नेहा के रंग

Shanky Bhatia
उनकी नेहा के रंग, हमारे चेहरे पर दिखने लगे, मुद्दत बाद हमारे [...]

हर सांस उनको तलाशा करते हैं

Shanky Bhatia
उनसे मिलकर एक बार, हर सांस उनको तलाशा करते है, फिर कब उनका दीदार हो, [...]

प्रमाणिका छंद में एक गीतिका

Dr Archana Gupta
जहीन जो विचार के गए जहाँ सुधार के निगाह से पढ़ो जरा अनेक रूप प्यार [...]