साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

मैं जिंदा हूँ

Bikash Baruah
मैं जिंदा हूँ क्योंकि मुझ में अभी साँस बाकि है, मैं जिंदा हूँ [...]

एक चेहरा

Bikash Baruah
एक चेहरा खूबसूरत सा जैसे कोई गुलाब लहराता, सभी चाहते उसको पाना [...]

एक कुर्सी

Bikash Baruah
घर में परा है एक कुर्सी, टाँग टूट चुकी है जिसकी; बैठ नहीं सकता है वह, [...]

पवित्र साध्य – प्रेम

डॉ०प्रदीप कुमार
" पवित्र साध्य- प्रेम " ---------------------------- रहिमन धागा प्रेम का ,मत [...]

” ————————————————- चाँद भी है शर्माया ” !!

Bhagwati prasad Vyas
घूँघट हटा चांदनी बिखरी , शीतल शीतल छाया ! यहां वहां फैला उजियारा , [...]

सरकार से तक़रार (शिक्षामित्र)

सत्यम् शुक्ल
लगाकर जान की बाजी दिखा देंगे सबल अपना, थें जितने दीखते अब तक नहीं [...]

भ्रमित होता युवा

Vindhya Prakash Mishra
बिना आरोप आक्षेप यदि यदि गौर किया जाय तो युवा अपने लक्ष्य प्राप्ति [...]

****भारत माँ का नाम बड़े शान से लिखूँ****

Abhishek Parashar
इंकलाब से लिखूँ, अपने ईमान से लिखूँ, अपने दिल से लिखूँ , अपनी जान से [...]

आओ बच्चो खेले खेल

Bhupendra Rawat
आओ बच्चो खेले खेल घोडा,बिल्ली और ये है रेल बड़े अज़ब के है ये खेल [...]

नेता जी को आम जन की गुहार

meenakshi bhasin
भई हर साल चुनाव में मैं मतदान तो कर आती हूं क्योंकि यह मेरा कर्तव्य [...]

क़त्लेआम ~~~~

SHASHIKANT SHANDILE
(संदर्भ - गोरखपुर के अस्पताल की घटना) दद्दा मेरा लाल मर गया ये कैसा [...]

बेटों को भी संश्कार देते

Jitendra Dixit
ना कमा के खाने देते , ना मुशीबतों मैं उधार देतें. दोस्ती ने बचा रखा [...]

** बादळी सुहावणी **

भूरचन्द जयपाल
दिवाळी ने दीप जलास्यां बाती करसी रात्यां राती । इब आवण वाळी [...]

कर यार बस

Bhupendra Rawat
ज़ख्म दिए इतने उसने कहा अब तू कर यार बस ग़म जदा हो गए वो अब ग़म देकर [...]

संगीत (कविता)

Onika Setia
एक प्राण में सभी प्राण , ऐसे है समय हुएें। [...]

*** दास्तां-ए-मुहब्बत ***

भूरचन्द जयपाल
दास्तां-ए-मुहब्बत सुनाना चाहता हूं गा गीत तुझको रिझाना चाहता [...]

कुछ तो बात है उसमें

Badnaam Banarasi
कुछ तो बात है उसमें, वो जाने क्या कर गयी। था भरी महफिल में मैं अब [...]

इस दिल में एक दर्द है तन्हाई है

Badnaam Banarasi
इस दिल में एक दर्द है तन्हाई है, वो मेरे घर कई रोज से नहीं आई है। [...]

साथियों हम है बेरोजगार

Vindhya Prakash Mishra
साथियों हम है बेरोजगार कर्म कर मेहनत से भरपूर दौड दौड कर थकित [...]

नाथूराम ने किसको मारा?

Bikash Baruah
नाथूराम ने किसको मारा ? एक आदमी की देह को, जिनकी आत्मा उन्हें पहले [...]

फिर नसीब होगा

Bhupendra Rawat
तू बडा खुश नसीब होगा वो तेरे दिल के करीब होगा जब भी होगा नाम तेरा [...]

फिर आऊँगा ….

मुकेश कुमार बड़गैयाँ
मैं नाम बदल फिर आऊँगा ! किसी दरख्त का फूल बनकर अंबर का तारा बनकर- - [...]

ऐ माँ वो गुज़रा जमाना याद आता है

Badnaam Banarasi
ऐ माँ वो गुज़रा जमाना याद आता है, तेरी गोद में बैठकर आँसू बहाना याद [...]

नज्म-ए-आशिकी

Ashutosh Jadaun
जब पिघल रहे हो जज्बात तो फिर , दिल मे धुंआ क्यू ना करु । सर-ए-महफ़िल मे [...]

बडे राज

Vindhya Prakash Mishra
बडे ही राज रक्खे है दिलों मे दबा करके कभी कह दो बहाने से मौका पा [...]

मेरे जीने का तू ही तो सहारा है

Bhupendra Rawat
जब जहां सोता सारा है नदां दिल ने तुझे पुकारा है चादं तारों के छाव [...]

” ————————————————- समय बड़ा चंचल है ” !!

Bhagwati prasad Vyas
आहट आज पवन है लाती , या मन में हलचल है ! बेकरार सी लगे निगाहें , बल खाता [...]

मुझे गुरूर न दे

Anish Shah
मेरे मौला जो भी देना है दे गुरूर न दे। मेरे अपने को जुदा करदे वो [...]

प्रेम पर होती टिकी हर देश की बुनियाद है

बसंत कुमार शर्मा
कैद हैं धनहीन तो, जो सेठ है,आजाद है झुग्गियों की लाश पर बनता यहाँ [...]

जमना पुलिन आजु…

तेजवीर सिंह
🌹🌻 घनाक्षरी 🌻🌹 जमना पुलिन माहिं आजु खड़े चन्द्रकांत राह तकें [...]