कविता

zahatana zahatana

रचनाकार- zahatana zahatana

विधा- कविता

नज़म
प्यारे बच्चे

अल्लाह को मे सजदा करूंगा
सुबह शाम माँ-बाप के लिए दुआ करूँगा

आधी – तुफानो से ना मे डरूंगा
मुश्किल – परेशानी का मुकाबला करूँगा

मशजिद मे जा जा के कलमा पडूंगा
कुरान मजीद को मे याद करूँगां

अड़ोस – पड़ोस मे मोहब्बत फेलाऊगां
इस्लाम को सब के दिल मे बसाऊंग़ा

अशरफ लोगो को उचाई पे ले जाऊंगा
बेताबी का आलम में बंद करूँगा

इताअत करने वालो की खुवाईश पूरी करूँगा
उस्ताद की हमेशा मे सेवा करूँगा

इकराम गली – मुहल्ले मे सब का करूँगा
ज़िद दी लोगो को घर जाके मनाऊंगा

किसी को कभी गलत रास्ता न दिखाउगा
सब को सही नेक राह पे चलाऊगां

गरीब आदमी को छोटा ना समझुगां
सब को बराबर में हक़ दूगां

लड़ाई – झगड़ा में ख़त्म करूगां
इन्सान को प्यार करना सीखाऊगां

आपस में भेद भाव ना करुगां
घर में सब से प्यार करुगां

इंसानियत को आगे बड़ाऊगां
गलत आदमी को में रूकोगां

पुरे देश को गीयानी बनाऊगां
इल्म में हर घर में ले जाऊगां

राजा कुमार
09810190869
RAJAKUMAR869@YAHOO.COM

Sponsored
Views 47
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
zahatana zahatana
Posts 5
Total Views 64
shayar,adviser,kavi,writer,motivator,song writer,story writer,entertainer

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia
One comment
  1. राजा कुमार जी,
    साहित्यपीडिया पर किसी भी रचना के टाइटल एवं कंटेंट में सिर्फ देवनागरी टंकण ही स्वीकार्य है।
    आपकी इस रचना का शीर्षक अंग्रेजी टंकण में था जिसे हमने देवनागरी टंकण में बदल दिया है।
    आपसे अनुरोध है कि आगे इसका ध्यान रखें।
    साहित्यपीडिया में रचना प्रकाशन के नियमों का पालन करें एवं साहित्यपीडिया को एक बेहतर पटल बनाने में हमें सहयोग दें।
    धन्यवाद,
    टीम साहित्यपीडिया