II राजनीति स्वच्छ कैसे होगी II

संजय सिंह

रचनाकार- संजय सिंह "सलिल"

विधा- कविता

राजनीति स्वच्छ कैसे होगी?

हम चुनते हैं अपना प्रतिनिधि ,
बहुमत का शासन बहुता भ्रष्टों की,
उन्हीं में से कोई आएगा चुना जाएगा,
राजनीति स्वच्छ कैसे होगी?

भ्रष्ट क्यों चुनेंगे ईमानदार को नेता,
यदि कोई स्वक्ष छवि का आ भी जाए ,
चोर अपना सरदार चोर या डाकू को ही तो चुनेंगे,
क्या उन्हें अपना प्रतिनिधि नहीं चाहिए ?

राजनीति स्वच्छ कैसे होगी ?

हम सारे ही यदि नैतिकता की पराकाष्ठा पर आ जाए,
दुनिया से सारी बुराइयां मिट जाएं,
देश शास्त्री,सुभाष,गांधी,विवेकानंद हो जाए ,
बुद्ध,महावीर,कबीर,हमारी रग-रग में बस जाएं,
है,यह असंभव सी बात, संभव कैसे होगी ?

राजनीति स्वच्छ कैसे होगी ?

सिर्फ एक विकल्प यह माना जाए,
कि अब भी ईमानदारी बहुतायत मैं जीवित है ,
उसको वोट में बदलने की जरूरत है ,
मतदान का प्रतिशत बढ़ाने की जरूरत है ,
यदि कोई भी प्रत्याशी मानक पर खरा ना उतरे,
नोटा दबाने की जरूरत है,
राजनीति कुछ ऐसे ही स्वच्छ होगी II

वरना राजनीति स्वच्छ कैसे होगी ?

संजय सिंह 'सलिल'
प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेशl

Sponsored
Views 43
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
संजय सिंह
Posts 114
Total Views 3.9k
मैं ,स्थान प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश मे, सिविल इंजीनियर हूं, लिखना मेरा शौक है l गजल,दोहा,सोरठा, कुंडलिया, कविता, मुक्तक इत्यादि विधा मे रचनाएं लिख रहा हूं l सितंबर 2016 से सोशल मीडिया पर हूं I मंच पर काव्य पाठ तथा मंच संचालन का शौक है l email-- sanjay6966@gmail.com, whatsapp +917800366532

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia