साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

शेर

शेर..”उस एक की पहचान”

Mahender Singh
किन किन से उलझिएगा, तुम्हारे जैसे सिर्फ तुम ही हो, एक अकेले [...]

तारीख़

seervi prakash panwar
अखबारों से मत पूछो कि आज तारीख क्या हैं...उन्हें तो हर रोज [...]

*** होता अश्क़ इन आँखों में ***

भूरचन्द जयपाल
होता अश्क़ इन आंखों में तो फिर ये दरिया-ए-दिल कभी सूखा नही [...]

*** समंदर बताता है ***

भूरचन्द जयपाल
समंदर बताता है कभी वह अपने पर इठलाता है शहर के शहर बह जाते [...]

इश्क

कवि कृष्णा बेदर्दी
तेरे ईश्क की जुदाई मे , इस हद से गुजर जायेंगे तेरे प्यार की आग [...]

खता

कवि कृष्णा बेदर्दी
न खता तेरी थी न खता मेरी, वक्त की चाल थी हो गयी दूरी, कब्र में [...]

वीणा

कवि कृष्णा बेदर्दी
मैं कस रहा हूँ वीणा की तार को, मैं जन्म दूँगा एक नयी झंकार [...]

नफ़रत

seervi prakash panwar
एक नफ़रत सी हो गयी ए जिंदगी इस शहर से! ख़ुद गर्ज सी हो जिंदगी खुद [...]

आस

कवि कृष्णा बेदर्दी
#भूख नही #प्यास नही बस #सनम तुमसे मिलने की #आस हैं, #शक नही पूरा [...]

शेर

कवि कृष्णा बेदर्दी
मेरे प्यार को तुम न तौलो की मै मर जाऊँ, मैं भौरा नही जो फूलों [...]

शेर

कवि कृष्णा बेदर्दी
रूहानी इश्क़ बनी सुहानी मेरे अल्फ़ाज़ तेरे एहसास पाके तू [...]

शेर

कवि कृष्णा बेदर्दी
बाँसुरी तेरे होंठो से लग कर...सुर जो प्यार का निकाला हैं, तेरे [...]

शेर

कवि कृष्णा बेदर्दी
गम ही मेरा सच्चा साथी,दर्द मेरा है मीत, तन्हा जीवन बेदर्दी [...]

शायरी–

Mahender Singh
शेर-शायरी:- जीवन-नृत्य,आभास और लेखन, गर जिंदगी तुझे ..मुझसे [...]

शेर.. जीवन और प्रेम पर

Mahender Singh
तू चाहे रूठ जितना, मैं मना ही लूँगा, चाहे जितने बदल भेष, आखिर [...]

अदा-ए-यार

भूरचन्द जयपाल
हमारा प्यार भी कभी जो किस्सा बन जाता है अगर यार को रिश्ता [...]

शेर

कवि कृष्णा बेदर्दी
आज की चांदनी रात मेरी आखिरी रात होगी, बीती जो रात तो कल से [...]

पीर

पं.संजीव शुक्ल
हम कबसे खड़े थे सहारे की तलाश में, वो आज भी न आयीं पड़ोस की दुकान [...]

गुलशन

Bikash Baruah
गुलशन सजते है गुलों से पतझड़ से, खारो से नहीं। भंवरा कलि को [...]

ज़रा छुपा ले….

seervi prakash panwar
ज़रा छुपा ले... चेहरें की इस मुस्कुराहट को, कोई घूर रहा था...कही [...]

निशानियाँ

Shruti Rastogi
कुछ कुछ चीजों को,इबादत से रखा जाता है । कुछ कुछ चीजों को,नजाकत [...]

=**= हंसी =**=

Ranjana Mathur
(1) ये दर्द कभी रोने से कम तो हुआ नहीं तो आओ जरा दर्द में हंस [...]

बेउम्मीद मुसाफ़िर

seervi prakash panwar
ज़लज़ला न कहो मुझे... अभी आग की जरूरत हैं! शायर न कहो [...]

खून के रिश्ते

Shruti Rastogi
खून के रिश्ते इस कदर खास होते हैं । नजरों से मीलों दूर हो,दिल [...]

आख़िरी हम सफ़र…

seervi prakash panwar
जो खेल रचा हैं मैने...उसे खत्म करने आया हूँ! जो रूप गढ़ा हैं [...]

*** हुकूमत करना चाहते हो ***

भूरचन्द जयपाल
हुकूमत करना चाहते हो मेरे दिल पर और मज़ार पे आकर रोते [...]

“एक शेर दूसरा सवा शेर”

Mahender Singh
**शेर :- तप रहा है सूरज पर "अ इंसान" तेरे मिजाज से ज्यादा गर्म [...]

आपकी बेवफाई

Bikash Baruah
जरा सी बात पर आपको क्यों इतना गुस्सा आया, यकीन था हमें आपकी [...]

मकसद

पं.संजीव शुक्ल
कुछ भी नहीं, एक आस तो है कुछ कर गुजरने का मक्सद खास तो है, यहीं [...]

तेरी यादें

Badnaam Banarasi
तेरी याद में कुछ इस कदर मैं खो जाता हूँ, कभी कभी तो मैं रोते [...]