साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Sahitya

यकीं है हमें

Shanky Bhatia
हर कदम हर राह एक उम्मीद है, दिखोगे तुम, यकीं है हमें। हमने जब [...]

उसने किया सवाल…

Shanky Bhatia
उसने किया सवाल, गर मैं न रहूँ, ज़िन्दगी में कोई कमी तो न [...]

आ पास मेरे

Shanky Bhatia
आ पास मेरे, कानों में तेरे, भुला कर मजबूरियाँ, मैं दिल की बात [...]

दिवंगत परिजन

Shanky Bhatia
हमारे परिवार के प्रेरणास्रोत दिवंगत परिजनों को हृदय से [...]

उनकी नेहा के रंग

Shanky Bhatia
उनकी नेहा के रंग, हमारे चेहरे पर दिखने लगे, मुद्दत बाद हमारे [...]

हर सांस उनको तलाशा करते हैं

Shanky Bhatia
उनसे मिलकर एक बार, हर सांस उनको तलाशा करते है, फिर कब उनका [...]

प्रमाणिका छंद में एक गीतिका

Dr Archana Gupta
जहीन जो विचार के गए जहाँ सुधार के निगाह से पढ़ो जरा अनेक रूप [...]

तेरी आँखों की मस्तियाँ

Radhey shyam Pritam
पिलाए जा अपनी आँखों से प्यार के जाम। मिलाकर हृदय के शबनमी [...]

ज़िंदगी अपनी है फिर भी उधार लगती है..

suresh sangwan
ज़िंदगी अपनी है फिर भी उधार लगती है कुछ और नहीं ये [...]

मात-पिता और गुरु का मान हमेशा रखना..

suresh sangwan
मात-पिता और गुरु का मान हमेशा रखना बेटा अच्छे - बुरे का [...]

अपने हिस्से की चाहिये अब जिंदगी मुझे..

suresh sangwan
अपने हिस्से की चाहिये अब जिंदगी मुझे दिखाती है सच साफ़ [...]

मिजाज़-ए-मौसम कुछ पल में बदल जाता है..

suresh sangwan
मिजाज़-ए-मौसम कुछ पल में बदल जाता है फूल खिलता है महकता है [...]

बिना पढ़े ही पोस्ट लाईक ना करना यारो..

suresh sangwan
बिना पढ़े ही पोस्ट लाईक ना करना यारो सब लाईक करे ये साईक ना [...]

नज़र बता रही है इसे उल्फ़त रही है …….

suresh sangwan
नज़र बता रही है इसे उल्फ़त रही है किस तरह मजबूर दिल की [...]

कहानी लंबी है पर छोटा सा किरदार मैं भी रखती हूँ..

suresh sangwan
कहानी लंबी है पर छोटा सा किरदार मैं भी रखती हूँ ज़माने के [...]

है दरमियाँ जो आज वो परदा हटाकर देख लेते हैं

suresh sangwan
है दरमियाँ जो आज वो परदा हटाकर देख लेते हैं इन फूलों की [...]

शौक़-ए-विसाल और ये शरमाना तेरा मेरा..

suresh sangwan
शौक़-ए-विसाल और ये शरमाना तेरा मेरा धड़कते दिलों का ये [...]

खुले आसमाँ तले सोया भी जाय तो कैसे..

suresh sangwan
खुले आसमाँ तले सोया भी जाय तो कैसे बोलो मच्छरों का पहरा [...]

बेचैनियों को दिल की पैग़ाम कोई तो दे………..

suresh sangwan
बेचैनियों को दिल की पैग़ाम कोई तो दे मेरी निकहतों को [...]

बेचैनियों को दिल की पैग़ाम कोई तो दे………..

suresh sangwan
बेचैनियों को दिल की पैग़ाम कोई तो दे मेरी निकहतों को [...]

कोई मंज़िल भी नहीं कहीं मुझे जाना भी नहीं…

suresh sangwan
कोई मंज़िल भी नहीं कहीं मुझे जाना भी नहीं तेरी ख़ातिर ऐ [...]

आँखों में नूर आया मिरे लब पे हँसी आ गई..

suresh sangwan
आँखों में नूर आया मिरे लब पे हँसी आ गई हम भूले हुये थे [...]

ख़्वाब- ओ-हक़ीकत में आसां याराने कहाँ होते हैं

suresh sangwan
ख़्वाब- ओ-हक़ीकत में आसां याराने कहाँ होते हैं इन आसमानों [...]

जिंदगी इक बार नहीं सौ बार चल के आये..

suresh sangwan
जिंदगी इक बार नहीं सौ बार चल के आये तू आये बहार आए गुलज़ार [...]

चली रोशनी की बात हवाओं के साथ साथ..

suresh sangwan
सुनी हैं मैनें कहानियाँ ये जबां जबां से हां अच्छे हैं हम [...]

बहे चलो जब तक किनारे ना मिलें……….

suresh sangwan
बहे चलो जब तक किनारे ना मिलें साहिल के बेशक़ इशारे ना [...]

आजा के मेरी खुशियों की सौगात बन के आ……….

suresh sangwan
आजा के मेरी खुशियों की सौगात बन के आ चाँद तारों से महकी [...]

चरागों के क़िस्से हवाओं की दास्तां सुनाकर जाना………

suresh sangwan
चरागों के क़िस्से हवाओं की दास्तां सुनाकर जाना नई सुबहा [...]

हालात ही बदले न खुद को बदल पाये हम……….

suresh sangwan
हालात ही बदले न खुद को बदल पाये हम समझी हमें दुनियाँ न उस को [...]

तहरीरें काग़ज़ पर उतार लीजिये……….

suresh sangwan
तहरीरें काग़ज़ पर उतार लीजिये लीजिये क़लम मेरी उधार [...]