साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

अन्य

** मासूम समझकर **

भूरचन्द जयपाल
मै जिसे प्यार करता रहा मासूम समझ कर वो ही मुझे जख़्म पे [...]

व्यंग :::मन रे तू काहे न धीर धरे

sushil yadav
II मन रे तू काहे न धीर धरे II मेरा मन 8/11 के बाद जोरो से खिन्न हो [...]

व्यंग प्रभु मोरे अवगुण ….

sushil yadav
व्यंग्य प्रभु मेरे अवगुण ..... / सुशील यादव वे प्रभु थे। .....सभी [...]

नोट की महिमा …..

sushil yadav
नोट की महिमा जिन नोटन की बात करत हैं,उसकी महिमा अपरंपार [...]

*** ईद की पूर्व संध्या पर *****

भूरचन्द जयपाल
मैंने ईद की पूर्व सन्ध्या पर चाँद को देखा होले होले मेरे [...]

*** बादल भी कभी माना है *****

भूरचन्द जयपाल
****************** कब तलक बरसने का इंतजार करते रहे तुम आज तुम ही कहते [...]

दिन बदलते……

manan singh
दिन बदलते देर लगती कब बता? भेड़ बनकर घूमता है भेड़िया।1 लूटकर [...]

“क्षणिका”

राजेश शर्मा
"क्षणिका" ------------------------- हवाओं ने फैलायी, थी तेरी आने की, ख़ुशबु [...]

**नक़ाब**

भूरचन्द जयपाल
खूबसूरत दिल को नकाब की आवश्यकता नहीं नकाब तो झूठे लोग [...]

••कृष्ण लीला••

रागिनी गर्ग
पहली सखी दूसरी सखी से- आज पनघट पे नहीं चलेगी का? दूसरी सखी-न [...]

**** शत्रु के प्रति क्षमा भाव रखे *****

Raju Gajbhiye
**** शत्रु के प्रति क्षमा भाव रखे ***** किसी ने सच ही कहा है की - [...]

*डार्लिंग*

भूरचन्द जयपाल
डार्लिंग इससे तो हम कुंवारे ही अच्छे थे कम से कम तुम्हें [...]

भूल भईय्या भूल मृत्यु डाल पे झूल

Naveen Jain
रमल चार फ़ाइलातुन जिंदगी से सीख मैंने ले रखी है आज [...]

काश…….. !

Rituraj Srivastava
मन का तिमिर दूर हो हृदय में उजियारा रहे । मैं तेरा प्यारा [...]

“क्षणिका”

राजेश शर्मा
"क्षणिका" ---------------------- अब नहीं , बोलूंगा कभी, सत् । खुल [...]

*भजन*

भूरचन्द जयपाल
*भजन* 🎂*******🎂 पीरां में पीर कहावे रामापीर आन हरो म्हारे [...]

“क्षणिका”

राजेश शर्मा
"क्षणिका" ------------------------- अब नहीं , बोलूंगा कभी, सत् । खुल [...]

जी लो हर लम्हे को

डी. के. निवातिया
न रोको जाते हुए लम्हो को न टोको आते हुए लम्हो को हार सुख दुःख [...]

हरगीतिका- मात्रा भार 28

DrRaghunath Mishr
संसार के दुख-दर्द का है, अंत आखिर अब कहाँ। खुशियाँ बाँटें [...]

गुरु गोविन्द सिंह चालीसा

विजय कुमार सिंह
दोहा गुरु को नमन कीजिये, महिमा होय अपार I प्रकाशपर्व कि बेला, [...]

हिम्मत न रूकता ,कभी आंधियों से सहमता ना कभी ,बरबादियों…

प्रमिला तिवारी
हिम्मत न रूकता ,कभी आंधियों से सहमता ना कभी ,बरबादियों [...]

नववर्ष २०१७

avadhoot rathore
सलाम करते हम सभी, तुझको ओ नववर्ष। सतरह तेरे राज्य में, सबका [...]

डॉ.रघुनाथ मिश्र ‘सहज’ की कुछ रचनाएँ.

DrRaghunath Mishr
कुण्डलिया 000 जागो प्रियवर मीत रे ,कहे सुनहरी भोर. चलना है गर [...]

नूतन बर्ष २०१७ आप सबको मंगलमय हो

मदन मोहन सक्सेना
नब बर्ष २०१७ की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ। मंगलमय हो आपको [...]

“दो क्षणिकाएँ “

राजेश शर्मा
"क्षणिका" ---------------------------------------------- मैं ही निकला, कुछ कमअक्ल; वो [...]

उनके खिलाफ होना भी, मंज़ूर है हमें

Shanky Bhatia
वो सोचते हैं, हम उनके साथ नहीं, उनके सामने, उनके खिलाफ, क्यों [...]

मनहरण घनाक्षरी

DrRaghunath Mishr
नववर्ष मनहरण घनाक्षरी -नववर्ष ००० रोज-रोज नया वर्ष, रोज ही [...]

मिरर इमेज लिखने के शोक ने लिखवाई विश्व प्रसीद पुस्तकें

Mitali Goel
मिरर इमेज लिखने के शोक ने लिखवाई विश्व प्रसीद [...]

जीवन-परिचय

Radhey shyam Pritam
नाम :राधेश्याम बंगालिया "प्रीतम" जन्म :सन१५जनवरी [...]

हास्य व्यंग्य

MridulC Srivastava
राहुल बाबा😜 मुझे बोलने नहीं दिया जा रहा है,मैं बोलूंगा तो [...]