साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

मुक्तक

मुक्तक(अमाबस की अंधेरी में ज्यों चाँद निकल आया है )

मदन मोहन सक्सेना
तुम्हारा साथ ही मुझको करता मजबूर जीने को तुम्हारे बिन अधूरे [...]

मुक्तक (जान)

मदन मोहन सक्सेना
मुक्तक (जान) ये जान जान कर जान गया ,ये जान तो मेरी जान नहीं जिस [...]

***** “काश्मीर की कली” की घाटी *****

Sureshpal Jasala
***** काश्मीर की कली की घाटी ***** अलगाववादियों के सँग में, जो आतँकी [...]

मुक्तक :– ग़म का साझेदार बना मुझे …….!!

Anuj Tiwari
मुक्तक :-- ग़म का साझेदार बना मुझे ......!! सात जन्म की पट्टेदारी [...]

*** मुक्तक : धारा परिवर्तन माँग रही ***

Sureshpal Jasala
*** मुक्तक : धारा परिवर्तन माँग रही *** आतंकी जब भी मरते हैं, घाटी [...]

*प्रतिज्ञा*

Dharmender Arora Musafir
मन का दीप जलायेँगे गीत खुशी के गायेँगे फूलों सा बनकर के [...]

*सोच-विचार*

Dharmender Arora Musafir
जीवन के हर पहलू पर करिए सोच-विचार पथ है ये कांटों का तुम रहना [...]

*** मुक्तक : क्यूँ आतंकी प्यारे लगते ***

Sureshpal Jasala
** मुक्तक : क्यूँ आतंकी प्यारे लगते ** क्यूँ आतंकी प्यारे लगते [...]

मौलिक कवि हूँ मित्रों दिल के भाव लिखता हूँ ।

Ashish Tiwari
मौलिक कवि हूँ मित्रों दिल के भाव लिखता हूँ । रिसते पुराने जो [...]

खुशियॉ लौट आयी हैं मिली जब चॉद-सी “जैनी”

Ashish Tiwari
चमकता चाँद सा चेहरा मेरे दिल में उतर आया ! हकीकत है या फिर [...]

किस ओर ज़िन्दगी है!

jyotima shukla
आँसुओं के बाढ़ में खुशियाँ फ़ना हुयी हैं! जब-जब हँसी हूँ मैं [...]

एक उडान बाकि है अभी!!

jyotima shukla
इस तरह हमनें न कोई रिश्ता बनाना चाहा ! जिस तरह तुमने हमसे [...]

*ज़िन्दगानी के मुसाफिर*

Dharmender Arora Musafir
खुशबू को बिखराता जा इस जग को महकाता जा ज़िन्दगानी के मुसाफिर [...]

** नव मुक्तक **

Sureshpal Jasala
***** मुक्तक ***** हम धर्म के मर्म को जानें, नफरत की पीडा को [...]

मुस्कान

अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
*मुक्तक* भेद भुला कर हम मुस्का दें। गले लगा कर पीर मिटा [...]

**** मुक्तक ****

Sureshpal Jasala
**** मुक्तक **** माँ की कृपा की छाया बस , सबके ऊपर बनी रहे ; मधुर [...]

मुक्तक :– जिंदा लाश से लिपटी रही !!

Anuj Tiwari
मुक्तक :-- जिंदा लाश से लिपटी रही !! आज मेरी साँस तेरी साँस से [...]

मन की बात

Suman Kumar Ahuja
दिल कहता है मै तेरे आस-पास रहूँ । हाँ कहूँ अपने मन के अहसास [...]

बादल

Suman Kumar Ahuja
बादल कोई मेरे शहर मे भी तो बरस जाए । प्यासे है खेत , जोर-शोर से [...]

मुक्तक :– चाहतें महफिल में भी मुस्कान की प्यासी रही !!

Anuj Tiwari
मुक्तक :-- चाहतें महफिल में भी मुस्कान की प्यासी रही !! चाहतें [...]

*गम को जब से हमदम माना*

Dharmender Arora Musafir
गम को जब से हमदम माना छाया है इक समां सुहाना माँ शारदे की [...]

कलम घिसाई एक मुक्तक 32 मात्रिक भार की

मधुसूदन गौतम
आज मैं ऊँचे आसन पर मसनद के सहारे बैठा हूँ। देख जमीन पर लोगो [...]

उपेक्षित

अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
*मुक्तक* मरुस्थल स्वार्थ का फैला नहीं कोई ठिकाना [...]

श्रीनगर में 8 सैनिकों के शहीद होने पर

Kavi DrPatel
आठ के बदले अट्ठाइस को जिन्दा ही जब गाड़ेंगे । तब ही दिल को चैन [...]

मौन होठों को

अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
*मुक्तक* मौन होठों को जरा तुम मुस्कुराहट दीजिये। है खजा [...]

प्रकृति

अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
*मुक्तक* वृक्ष नम्रता -त्याग सिखाता, नदियाँ देना [...]

*रिश्तों के आगे*

Dharmender Arora Musafir
छोटी 'सी' ज़िन्दगानी है लौट नहीँ फ़िर आनी है रिश्तों के आगे [...]

*बदलाव की आँधी*

Dharmender Arora Musafir
चले बदलाव की आँधी खुशी चहुंओर छाएगी धरा ये एक है सारी यही [...]

मुक्तक.

Ashok Kumar Raktale
1 बोझ में मँहगाई के मत देश को उलझाइये कौन कहता है जमीं पर चाँद [...]

शारदा वंदन

अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
*मुक्तक* नमन मैं करूँ अंबिका आपको आप हो ज्ञान भंडार माँ ज्ञान [...]