साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

लेख

लो फिर आ गया आत्महत्याओं का मौसम

लोधी डॉ. आशा 'अदिति'
अभी दसवीं तथा बारहवीं का परीक्षा परिणाम आये एक दिन भी नहीं [...]

प्रकृति,हम और वन्य जीव

MridulC Srivastava
प्रकृति की मनोरम कला अद्भुत,अद्वितीय,अकल्पनीय है, सुबह के [...]

नेता पैदा करने की मशीन

साहेबलाल 'सरल'
*नेता पैदा करने की मशीन* नेता पैदा करने की मशीन पैदा करना है [...]

हाय ये फेसबुकिया ज्योतिषी

लोधी डॉ. आशा 'अदिति'
आजकल फेसबुक पर कई लोगों को बड़ा अजीब सा शौक चर्राया है जिसे [...]

आज का समाज लोकप्रियता का…

कमलेश यादव
आज का समाज लोकप्रियता का... ------------------------------- "लोग करते है जिसे उस [...]

सत् है सभी रोगो कि जडी बुटी

Ankit Kumar Panchal
अंकित कहता हजार बार मानो कहना एक बार जग मेँ फैला जो ये [...]

सुबह का आगमन-नज़्म

Abhinav Saxena
एक नज़्म हुई है.. एक और नया दिन मगर फिर तेरे बिन रात कटी है [...]

हर स्त्री का सपना.. ..

शालिनी साहू
माँ बनने का ये सुखद एहसास हर स्त्री के मन में होता है!नौ महीने [...]

मन बेचैन होता है…. .

शालिनी साहू
मन बेचैन होता है... बात जब ह्रदय से जुड़े रिश्तों की हो तो [...]

टीवी जगत और परिपक्वता

डॉ संगीता गांधी
परिपक्वता समय के साथ साथ परवान चढ़ती है । हम बच्चे से बड़े होते [...]

एक सात्विक रिश्ता : सच्ची मित्रता

Rita Singh
निःस्वार्थ , निर्विकार , निष्पक्ष , निष्पाप भावों से युक्त [...]

किसान

मनोज राय
पहले थोड़ा चटाया.. अरे वाह..मज़ा आया.. और चाहिए.. हाँ.. थोड़ा ज्यादा [...]

प्राकृतिक सुंदरता

तेजू जांगिड़
इन दिनों प्रकृति बहुत ही सुन्दर लग रही है । अभी सीसम के [...]

“दरिंदगी के बढ़ते कदम और हम”

Dr.rajni Agrawal
"दरिंदगी के बढ़ते कदम और हम" [...]

साहित्य समाज का दर्पण है

डॉ०प्रदीप कुमार
" साहित्य समाज का दर्पण है " ------------------- लेखन ऐसा [...]

डिअर डेयरी से मेरी बात

pratik jangid
dear diary में तुमको यह बताना चाहता की तुमको मेने बनाया ताकि [...]

धार्मिक सहिष्णुता बनाम राष्ट्रीय एकता

डॉ०प्रदीप कुमार
" धार्मिक सहिष्णुता बनाम राष्ट्रीय एकता [...]

गर्मी के चटपटे…

शालिनी साहू
सूरज भइया के ये नखरे! अब सबके पसीने छुटा रहे हैं हर व्यक्ति की [...]

रानगिर की हवा में शामिल हैं दक्षकन्या की स्मृतियाँ

ईश्वर दयाल गोस्वामी
दिव्य-कन्या बन गई पाषाण-प्रतिमा- तीन रूपों में होते हैं [...]

मटका : हमारी संस्कृति भी, हमारा स्वास्थ्य भी

राजीव शर्मा 'ब्रजरत्न'
आज का समय तेजी से भागती दुनिया का है। प्रतियोगिताओं के जंजाल [...]

हमारा हिंदुस्तान

RASHMI SHUKLA
आज देखा माता की चौकी को एक मुस्लिम दे रहा था सहारा, वो अपना [...]

अल्लाह का दूसरा रूप है : पंचमहाभूत

Shalini Tiwari
अल्लाह ( अलइलअह ), यदि हम इसका विश्लेषण करें तो पाएगें कि अ- आब [...]

धर्म के नाम पर पशु हत्या क्यों?

Umesh Pansari
मानव को यह जीवन निर्बल की सहायता हेतु मिला है फिर क्यों नहीं [...]

इन रावणों को कौन मारेगा?

कवि रमेशराज
क्वार सुदी दशमी को बेहद उल्हास के साथ मनाये जाने वाले उत्सव [...]

पितरों के सदसंकल्पों की पूर्ति ही श्राद्ध

कवि रमेशराज
‘श्राद्ध प्रकाश’ में बृहस्पति कहते हैं कि सच्चे मन और [...]

नारी-शक्ति के प्रतीक हैं दुर्गा के नौ रूप

कवि रमेशराज
ग्रीष्म ऋतु में चैत्रमास की अमावस्या के दूसरे दिन प्रारंभ [...]

शिव ही बनाते हैं मधुमय जीवन

कवि रमेशराज
शिव समस्त देवों के देव माने गये हैं, क्योंकि वे मनुष्य ही [...]

शिव-स्वरूप है मंगलकारी

कवि रमेशराज
शास्त्रों की मान्यतानुसार पावन गंगा को अपनी लटों में धारण [...]

लक्ष्मी-पूजन

कवि रमेशराज
कार्तिक मास की अमावस्या को पूरी धूमधाम से मनाये जाने वाले [...]

हर घर में नहीं आती लक्ष्मी

कवि रमेशराज
दरिद्रता जीवन का सबसे बड़ा अभिशाप है। आदमी यदि दरिद्र हो तो [...]