साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

लेख

रमेशराज का ‘ सर्पकुण्डली राज छंद ‘ अनुपम + ज्ञानेंद्र साज़

कवि रमेशराज
श्री रमेशराज किसी परिचय के मोहताज नहीं | ग़ज़ल के समक्ष एक नई [...]

रमेशराज का एक पठनीय तेवरी संग्रह “घड़ा पाप का भर रहा ” +डॉ. हरिसिंह पाल

कवि रमेशराज
रमेशराज का एक पठनीय तेवरी संग्रह “घड़ा पाप का भर रहा ” +डॉ. [...]

काव्य का एक नया रस – “ विरोधरस “ + डॉ. अभिनेष शर्मा

कवि रमेशराज
काव्य का एक नया रस - “ विरोधरस “ + डॉ. अभिनेष [...]

रमेशराज ने दिलायी तेवरी को विधागत पहचान +विश्वप्रताप भारती

कवि रमेशराज
रमेशराज ने दिलायी तेवरी को विधागत पहचान +विश्वप्रताप भारती [...]

नयी विधा के पुरोधा कविवर रमेशराज +डॉ. रामकृष्ण शर्मा

कवि रमेशराज
नयी विधा के पुरोधा कविवर रमेशराज +डॉ. रामकृष्ण शर्मा [...]

विलक्षण प्रतिभा के धनी रचनाकार हैं रमेशराज +ज्ञानेंद्र साज़

कवि रमेशराज
विलक्षण प्रतिभा के धनी रचनाकार हैं रमेशराज +ज्ञानेंद्र साज़ [...]

“बुलंदप्रभा” में आलोकित तेवरीकार रमेशराज +डॉ. अभिनेष शर्मा

कवि रमेशराज
“बुलंदप्रभा” में आलोकित तेवरीकार रमेशराज +डॉ. अभिनेष [...]

“ऊधौ कहियो जाय“ तेवरी-शतक में विरोधरस का प्रवाह +डॉ. अभिनेष शर्मा

कवि रमेशराज
“ऊधौ कहियो जाय“ तेवरी-शतक में विरोधरस का प्रवाह +डॉ. अभिनेष [...]

तेवरीकार रमेशराज किसी परिचय के मोहताज नहीं

कवि रमेशराज
तेवरीकार रमेशराज किसी परिचय के मोहताज नहीं +डॉ. भगत सिंह [...]

रमेशराज की शोध-पुस्तक- “ विचार और रस “ में रस पर नवचिन्तन

कवि रमेशराज
रमेशराज की शोध-पुस्तक- “ विचार और रस “ में रस पर नवचिन्तन + [...]

राष्ट्र-भाव को जगाती रमेशराज की ‘ राष्ट्रीय बाल कविताएँ ‘

कवि रमेशराज
राष्ट्र-भाव को जगाती रमेशराज की ‘ राष्ट्रीय बाल कविताएँ ‘ + [...]

अनेक तेवरी-संग्रहों का एक ही पुस्तकाकार रूप- “ रमेशराज के चर्चित तेवरी संग्रह “

कवि रमेशराज
अनेक तेवरी-संग्रहों का एक ही पुस्तकाकार रूप- “ रमेशराज के [...]

मौलिक चिंतनपरक शोधकृति “ विरोधरस “

कवि रमेशराज
मौलिक चिंतनपरक शोधकृति “ विरोधरस “ डॉ. राम सनेही लाल ‘ [...]

विरोध की कविता : “ जै कन्हैयालाल की “

कवि रमेशराज
विरोध की कविता : “ जै कन्हैयालाल की “ [ प्रथम संस्करण ] + डॉ. [...]

डॉ. गोपाल बाबू शर्मा की कविता-यात्रा

कवि रमेशराज
प्रसिद्ध व्यंग्यकार और जाने-माने कवि डॉ. गोपाल बाबू शर्मा [...]

ग़ज़ल के क्षेत्र में ये कैसा इन्क़लाब आ रहा है?

कवि रमेशराज
ग़ज़ल को प्रधानता से छापने वाली पत्रिका ‘लफ्ज़-2’ सम्मुख है। [...]

क्या सीत्कार से पैदा हुए चीत्कार का नाम हिंदीग़ज़ल है?

कवि रमेशराज
ग़ज़ल हिन्दी या उर्दू, किसी में भी लिखी जाये, लेकिन अपने [...]

हिंदीग़ज़ल की गटर-गंगा

कवि रमेशराज
श्री यादराम शर्मा हिन्दी में ग़ज़ल के चर्चित हस्ताक्षर हैं। [...]

क्या यही है हिन्दी-ग़ज़ल?

कवि रमेशराज
तेवरी पर आये दिन यह आरोप जड़े जाते रहे हैं कि ‘तेवरी अनपढ़ और [...]

हिन्दी में ग़ज़ल की औसत शक़्ल? +रमेशराज

कवि रमेशराज
ग़ज़ल के ग़ज़लपन को विभिन्न दोषों के आघात से बचाने के लिये [...]

हिन्दी ग़ज़लः सवाल सार्थकता का? +रमेशराज

कवि रमेशराज
ग़ज़ल अपनी सारी शर्तों, ;कथ्य अर्थात् आत्मरूप-प्रणयात्मकता [...]

ग़ज़ल की नक़ल नहीं है तेवरी + रमेशराज

कवि रमेशराज
तेवरी एक निश्चित अन्त्यानुप्रासिक व्यवस्था से बँधी एक ऐसी [...]

हिंदीग़ज़ल में होता है ऐसा ! +रमेशराज

कवि रमेशराज
‘हिन्दी-ग़ज़ल’ के अधिकांश समर्थक, प्रवर्त्तक , समीक्षक, लेखक [...]

क्षमा करें तुफैलजी! + रमेशराज

कवि रमेशराज
तुफैलजी हास्य-व्यंग्य के साथ-साथ ग़ज़ल की उत्तम नहीं [...]

********* (((( इंसान की मानसिकता…के कुछ नमूने ))))))********::

अजीत कुमार तलवार
रिक्शा वाले से. ....अरे यहाँ के तो 10 लगते हैं तुम 20 कैसे मांग रहे [...]

तेवरी का आस्वादन +रमेशराज

कवि रमेशराज
‘‘काव्य वह रमणीय एवं सार्थक शब्द-रचना है, जिसमें पाठक, श्रोता [...]

तेवरी का सौन्दर्य-बोध +रमेशराज

कवि रमेशराज
लोक या जगत के साथ हमारे रागात्मक सम्बन्ध, हमारी उस वैचारिक [...]

तेवरी में रागात्मक विस्तार +रमेशराज

कवि रमेशराज
काव्य की आत्मा वह रागात्मक चेतना है, जिसके द्वारा मानव रति या [...]

तेवरी में करुणा का बीज-रूप +रमेशराज

कवि रमेशराज
तेवरी अन्त्यानुप्रासिक व्यवस्था से बंधी एक ऐसी कविता है, [...]

यथार्थवादी कविता के रस-तत्त्व +रमेशराज

कवि रमेशराज
काव्य के रसात्मक-विवेचन को लेकर आदि आचार्य भरतमुनि ने काव्य [...]