साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

लघु कथा

सुमिरन

sudha bhardwaj
सुमिरन ------------- सागर किनारे खड़ा मैं इससे पहले की कुछ संभल [...]

अमीरी – गरीबी का अन्तर

Bijender Gemini
लघुकथा अमीरी - गरीबी का अन्तर - बीजेन्द्र जैमिनी साहब के [...]

ईद चली गई

manoj kumar
“ईद चली गई अब तो एक साल तक मजे कर यार।” (चितले ने धोलू के अपने [...]

बुढापा एक अभिशाप

Bijender Gemini
लघुकथा बुढापा एक अभिशाप - बीजेन्द्र जैमिनी मुझे अपने [...]

अपराध

Bijender Gemini
लघुकथा अपराध - बीजेन्द्र जैमिनी वह तेजी से मोटर साईकिल पर [...]

पति महोदय

Bijender Gemini
लघुकथा पति महोदय - बीजेन्द्र जैमिनी रोजाना की तरह डाकं [...]

**** ईश्वर का उपहार ****

Raju Gajbhiye
**** ईश्वर का उपहार **** राजू सुबह उठते ही गरम पानी नहाने हेतु [...]

दरोगा जी

Bijender Gemini
लघुकथा दरोगा जी - बीजेन्द्र जैमिनी कोर्ट में [...]

अछूत

डॉ मधु त्रिवेदी
अछूत ---------------- जिस समाज में वो जन्मी थी , वो बहुत समय से [...]

पहचान लघु कथा

राहुल आरेज
पहचान तीसरी बेटी के जन्म के बाद रंजीत के घर मे मानो मातम सा [...]

तोहफा

रजनी मलिक
लघुकथा *****तोहफा******* आज शोभा बहुत खुश है ,आज उसका बेटा गौरव पूरे [...]

*** राजू धन का चौकीदार ***

Raju Gajbhiye
*** राजू धन का चौकीदार *** राजू सोच रहा था इस दुनिया में सच्चा [...]

प्लास्टिक की गुडिया

रजनी मलिक
"सुरभि चलो!जल्दी से तैयार हो जाओ!आज हमें गुप्ता जी के यहाँ [...]

एवरी डे इस रेस डे

Lovi Mishra
IsEveryday a race day? Every day is a race day.शायद किसी बाइक के विज्ञापन पोस्टर पर लिखा [...]

जीवन के अंतिम पड़ाव पर लोककवि रामचरन गुप्त द्वारा लिखी गयीं लघुकथाएं

कवि रमेशराज
+कवि रमेशराज के पिता लोककवि रामचरन गुप्त द्वारा जीवन के [...]

एक सशक्त लघुकथाकार : लोककवि रामचरन गुप्त

कवि रमेशराज
एक सशक्त लघुकथाकार : लोककवि रामचरन गुप्त + डॉ. रामगोपाल [...]

दोस्ती में कचरा !

Neeraj Chauhan
वो कोन था? राजेश ने सहमकर पूछा। "वो..वो दोस्त है।" "क्या सच में [...]

मलाल

आशीष त्रिवेदी
हर शाम सिन्हाजी इस समय नदी के किनारे आकर बैठ जाते थे. डूबते [...]

वो 500 का नोट

सोनू हंस
मिस्टर मेहता 500 व 1000 रुपयों की गड्डी लेकर बैंक की लाइन में खड़े [...]

गूंगी गुड़िया

आशीष त्रिवेदी
रसोई में काम करते हुए गीता सुन रही थी. चंद महीनों पहले ही [...]

वादा

आशीष त्रिवेदी
अभी अभी अंजू को ऑपरेशन के लिए ले गए थे. स्थिति तनावपूर्ण थी. [...]

हकीकत

आशीष त्रिवेदी
गाँव के चौपाल पर एक नाटक खेला जा रहा था. चारपाई पर पूरे ठसक के [...]

जहर

Hema Tiwari Bhatt
🏵जहर(एक लघु कथा)🏵 "मनु और मीनू! यहाँ आओ बेटा जल्दी से भगवान जी [...]

बड़ी मछली

Anil Shoor
_लघुकथा__ बड़ी मछली *अनिल शूर आज़ाद व्यवसायी पिता ने सरोवर [...]

स्वतंत्रता-दिवस

Anil Shoor
_लघुकथा _ स्वतंत्रता-दिवस *अनिल शूर आज़ाद "स्कूल नही [...]

मसीहा

Anil Shoor
_लघुकथा _ मसीहा *अनिल शूर आज़ाद साहित्य-जगत में उनका बड़ा नाम [...]

प्रतिघात

Anil Shoor
_लघुकथा_ प्रतिघात *अनिल शूर आज़ाद दो नन्हे पिल्ले.. सुअर के [...]

दूरी

Anil Shoor
_लघुकथा_ दूरी *अनिल शूर आज़ाद जंगल के बीच से निकलती सड़क के [...]

स्वयंसिद्धा

आशीष त्रिवेदी
एक ही शहर में उमादेवी का अपने बेटे के साथ ना रह कर अकेले रहना [...]

अहम

आशीष त्रिवेदी
प्रतिष्ठित साहित्यकार पुष्करनाथ साहित्य जगत का सर्वोच्च [...]