साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

लघु कथा

रेलर्व लाईन

Bijender Gemini
पार्क में सुबह - सुबह घुम रहाँ हूँ। तभी आगं बुझाने वाली गाड़ी [...]

कुनबा

Kumar gourav
देव दानव यक्ष नर नारी सब ने उसकी ओर देखकर मुंह फेर लिया । कचरे [...]

चूहे से सीख

Naval Pal Parbhakar
चूहे से सीख बहुत पुरानी बात है । एक घर में शादी थी । उस घर की [...]

सुंदरता

रौशन जसवाल विक्षिप्त
उसकी बातें उसकी सुंदरता की तरह ही आकर्षक होती थी। कोई भी उससे [...]

क्यों लिखूँ पत्र

Hema Tiwari Bhatt
"मानस बेटा!चलो कल के हिन्दी टेस्ट का रीविजन कर लो|पत्र याद कर [...]

कर्तव्य

डॉ०प्रदीप कुमार
" कर्तव्य " साठ बसंत देख चुकी 'कमली' को देखकर अनुमान नहीं [...]

मित्रता

रौशन जसवाल विक्षिप्त
यूँ तो उससे कोई पुराना परिचय नहीं था, मात्र इतना कि वो [...]

रस्म अदायगी

Archana Tripathi
पति के मृत्यु की सुचना आई थी। साथ ही सन्देश भी,"पत्नी तो तुम ही [...]

हम (लघुकथा)

sudha bhardwaj
हम (लघुकथा) पता नही कब से यें गलतफहमी तुम्हारे दिल में अपना [...]

बिन फेरे हम तेरे

Akhilesh Chandra
लघुकथा : बिन फेरे हम तेरे बात तब की है जब शादी व्याहों [...]

रिश्तो की विडंबना

अवधेश कुमार राय
कभी - कभी इंसान अपनी महत्वआकांक्षाओं में इतना लिन हो जाता [...]

मॉ….सचमुच मॉ पत्थर सी हो गई है .

NIRA Rani
कहते है दिल की बात जुबॉ पर न लाओ तो दिल पर अंकित हो जाती है दिल [...]

कोयले की कालिख

अवधेश कुमार राय
जब मैं छोटा था, मेरे शहर में कोयले जलाये जाते थे, जलावन के लिए. [...]

शरारती बंकू

Mamta Rani
किसी शहर के समीप एक जंगल था, जिसका नाम सुंदरवन था। उस वन में [...]

शादीं बिना तलाकं

Bijender Gemini
लघुकथा शादीं बिना तलाकं - बीजेन्द्र जैमिनी कोर्ट में [...]

माँ – बाप

Bijender Gemini
लघुकथा माँ - बाप - बीजेन्द्र जैमिनी शिव मन्दिर माँ [...]

नारी शोंषण

Bijender Gemini
लघुकथा नारी शोंषण - बीजेन्द्र जैमिनी नारी शोंषण के [...]

मुहिम

manisha joban desai
मुहिम कैसे हो पारसजी ?कहते हूँए विमलजी बंगलो की सोसायटी में [...]

आजाद हिंद फौज बनाकर , दुश्मन को ललकारा था

Dr Archana Gupta
नेताजी जी सुभाष चंद्र बोस जयंती की आप सभी को हार्दिक [...]

खुशबु रिश्तो की -लघुकथा

manisha joban desai
खुशबु रिश्तो की बाबूजी एकदम गुस्सा होकर चिल्ला रहे थे ,"कभी [...]

—-

विवेक आस्तिक
----------"भानू"-------(लघुकथा) भानू ........... भानु.......... शायद आप भानु सूरज को [...]

दहेंज के झूठे केस

Bijender Gemini
लघुकथा दहेंज के झूठे केस - बीजेन्द्र जैमिनी जेल में हत्या [...]

क्यों ऐसा?

manisha joban desai
क्यों ऐसा ? विश्वा जल्दी से अपनी कंपनी की बस से उतरती हुई घर [...]

लघुकथा- सजा

ओमप्रकाश क्षत्रिय
लघुकथा- सजा सच माँ को पता नहीं था. बड़े मेहनती खेतिहर बेटे को [...]

लघुकथा- चाहत

ओमप्रकाश क्षत्रिय
लघुकथा- चाहत पिता ने शादी तय होते ही एक निवेदन किया था, जिसे [...]

लघुकथा- माँ हूँ

ओमप्रकाश क्षत्रिय
लघुकथा- माँ हूँ ओमप्रकाश क्षत्रिय “प्रकाश” उर्मि ने [...]

लघुकथा- अ-कर्म

ओमप्रकाश क्षत्रिय
लघुकथा- अ-कर्म उस को कहना पड़ा, “ सर ! मैं ने उन्हें समय पर [...]

मतलबी दुनिया

sudha bhardwaj
लघुकथा ------------------ मतलबी दुनिया -------------------- क्या जरूरत थी तुझे इस [...]

दुःख और मजबुरी

Bijender Gemini
लघुकथा दुःख और मजबुरी - बीजेन्द्र जैमिनी फटेहाल युवती को [...]

सुमिरन

sudha bhardwaj
सुमिरन ------------- सागर किनारे खड़ा मैं इससे पहले की कुछ संभल [...]