साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

कव्वाली

पढ़ना लिखना छोड़ दिया मैंने

विवेक दुबे
--पढ़ना लिखना छोड़ा मैंने--- ___________________________ हाँ पढ़ना लिखना छोड़ [...]

मुक्त छन्द रचना -कालजयी बन जाएँ

DrRaghunath Mishr
कालजयी बन जाओ: एक यथार्थ परक मुक्त छन्द [...]

पढ़े चलो पढ़े चलो

Anuj yadav
पढ़े चलो पढ़े चलो आगे तुम बढ़े चलो अंधकार की छाया से उजियारे [...]

हम तड़पते रहे

Govind Kurmi
यूँ चुराके नजर वो गये जब मुकर वो तो हंसते रहे, हम तड़पते रहे [...]

भारतीय फौज

Govind Kurmi
🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳 आम नहीं इनकी जिंदगी, मौका है [...]

जान मिल गई

कृष्णकांत गुर्जर
तू मिली यू मुझे जैसे जान मिल गई| मरते हुये को इक जिंदगी मिल [...]

अब तक मेरी निगाहों में आया नही कोई

Shoaib Ashq
अब तक मेरी निगाहों में आया नही कोई  आका  हैं   जैसे आज भी [...]

***** कव्वाली ******

भूरचन्द जयपाल
🎂 जीना हुआ दुस्वार यारां मौत भी ना आयी । जीना [...]

अगर भगवान तुम हमको, कही लड़की बना देते

शिवदत्त श्रोत्रिय
अगर भगवान तुम हमको, कही लड़की बना देते जहाँ वालों को हम अपने, [...]

मुक्ति

dr. pratibha prakash
कर्म योग्यता और संस्कार सबसे ऊपर मेरा प्यार निस्वार्थ [...]

मुक्ति

dr. pratibha prakash
कर्म योग्यता और संस्कार सबसे ऊपर मेरा प्यार निस्वार्थ [...]

तेरा इंतजार

Dinesh Sharma
जो देखा था तेरे इंतजार में टूटता पत्ता उस पेड़ से जो सुख गया [...]

पलाश का साधुत्व

shuchi bhavi
ऐ पलाश! मैंने देखा है तुम्हें फूलते हुए, देखा है [...]

यादों का बटुआ

सन्दीप कुमार 'भारतीय'
यादों का बटुआ ************** कल ही हाथ लग गया था १२वीं का परिचय पत्र [...]

कव्वाली :– तेरी दीवानगी की हद सरहद पार ले आई !!

Anuj Tiwari
कव्वाली :– तेरी दीवानगी की हद अनुज तिवारी “इन्दवार” एक तरफ [...]