साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

कविता

*”समाज निजता में बाधक है”*

Mahender Singh
मैं कह न सका, हिचक मेरे मन में थी, वह सह न सकी, काफ़िर कह आगे बढ़ [...]

वेदना

डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
'वेदना' कष्ट का पर्याय नहीं अपितु 'शक्ति' का स्रोत है। एक [...]

तुम्हारे लिए

RAJESH BANCHHOR
********************* जन्मदिवस के रूप में यह दिन सुहाना आया है हर दिल पर [...]

उम्मीदों के पुल

Raj Vig
देर से ही सही आ गया हूं उन राहों मे जहां मिलने लगा है सकून [...]

==खुशियाँ बांटता चल==

Ranjana Mathur
छोटी सी जिन्दगी है बिता दे हंसने हंसाने में बता क्या मिलेगा [...]

मेरा सदग्रंथ कहे ये बारंबार

Ashutosh Jadaun
ये अश्क होते मोती , ये नयन होता सागर । ये झुल्फे होती बादल , ये [...]

पाक तेरा क्या होगा अंजाम

Vindhya Prakash Mishra
क्या होगा अंजाम पाक तेरा क्या होगा अंजाम कोई तेरी औकात नही [...]

जीवन क्षणभंगुर

Maneelal Patel
आया है तो , जाएगा जरूर । जीवन तो है यारा, क्षणभंगुर। कौन जाने [...]

गिरगिट

अशोक सोनी
एक गिरगिट अचानक रूप बदलने लगा नये-नये रंग में पल-पल ढलने लगा [...]

रावण नहीं मरेगा शायद

हेमा तिवारी भट्ट
💫रावण नहीं मरेगा शायद💫👉 "नाभि में अमृत भरा था, ज्ञानी भी वह [...]

ख़ारे धारे …

sushil sarna
ख़ारे धारे ... कुछ गिले हमारे हैं और कुछ गिले तुम्हारे हैं [...]

“आत्म-निर्भरता और दुनिया”

Mahender Singh
कभी मैं भूल जाती हु कभी उन्हें याद रहता है, भूल-भलैया खेल में [...]

“सफलता और आस्तिकता में कोई संबंध नहीं”

Mahender Singh
सफलता का श्रेय किसी एक खुशनसीब को मिलता है, असफलता के लिए हर [...]

फूलों की किस्मत

Bikash Baruah
बाग में महकने वाले फूलों को माली संभाल लिया करते है, मगर [...]

तितली

Alka Keshari
काश की मैं एक तितली होती । नीली पीली चमकीली सी, रंगो वाली [...]

मेरे भी हाथों में ए. के.

साहेबलाल 'सरल'
मेरे भी हाथों में ए. के. असली गद्दारों को जानो, और कड़ा बर्ताव [...]

*अंसारी विवाद*

साहेबलाल 'सरल'
*अंसारी विवाद* सोच समझकर बोलो चच्चा, नाम बड़ा है अंसारी। थोक [...]

किसने गोली बारी की

साहेबलाल 'सरल'
 किसने गोली बारी की महाकाल की धरती पर ही, किसने गोली बारी [...]

किसने गोली बारी की

साहेबलाल 'सरल'
 किसने गोली बारी की महाकाल की धरती पर ही, किसने गोली बारी [...]

*हिन्दू हिंदुस्तान के*

साहेबलाल 'सरल'
*हिन्दू हिंदुस्तान के* डरने मरने का भय छोड़ो, जीओ सीना तान [...]

अभिनन्दन कैसे लिखे

साहेबलाल 'सरल'
अभिनन्दन कैसे लिखे लिख डालो आभार पत्र भी, इसमें भी क्या [...]

जागो_भारत_जागो

DrSarojini Tanhaa
#जागो_भारत_जागो #रोहिंग्या_वापस_जाओ अरे भारत के सोये [...]

कहाँ हो बेटा

डॉ.मनोज कुमार
कहाँ हो तुम शून्य में मुस्कुराहट को ढूढता एक पिता जिसने [...]

*”काव्य और अनुभूति”*

Mahender Singh
*"*बहने लगी रसधार दिलों में, जाने उद् -भीत ..है कहां से, बस जाता [...]

अब तो निंदिया टूट गई

अरविन्द राजपूत
जय जयकारा करते करते साल अनेकों बीत गई । राजनीति के गंदे [...]

अपनों की चोट! (रोहिंग्या पर आधारित)

Neeraj Chauhan
धराशाही हो गयी थी तुम्हारी वसुधैव कुटुम्बकम की धारणा जब [...]

मेरी अभिलाषा

Akash Yadav
तात अब मैं भी स्कूल जाऊंगा छोड़ के अपनी माँ की गोद, स्कूल में [...]

*”कौआ कनागत् और सीख “*

Mahender Singh
आओ..आओ.. आओ..कागा, आयो..कनागत्..मांड़ी ..काढ़ी, पितृ.. पिण्ड.. जिम्मा.. [...]

सदा सुकृति ही जीवित रहती रहे सदा न नश्वर गात

Vindhya Prakash Mishra
सदा सुकृति ही जीवित रहती रहे सदा न नश्वर गात । अभी दिखा है [...]

एक विशाल बरगद के साये

हेमा तिवारी भट्ट
एक विशाल बरगद के साये। जब दो पग नन्हें से आये।। विस्मित होकर [...]