साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

कविता

(शहर के ऐवरेस्ट के लिए भावांजलि)

Hema Tiwari Bhatt
(शहर के ऐवरेस्ट के लिए भावांजलि)💐💐💐💐💐💐💐💐 एक छोटा शहर बड़ा [...]

“मनभावन पहेली”

Dr.rajni Agrawal
"मनभावन (कह मुकरी छंद) रूप सलौना खूब सजाते श्याम भ्रमर मन को [...]

हास्य रचना पहले धनिया लाओ तुम

Geetesh Dubey
😊पहले धनिया लाओ तुम 😊 चूं चपाट मत करना हमसे बातें नही बनाओ [...]

जिंदादिल वीर जवान

Santosh Barmaiya
उठो, बनो शोले हे ! वीरों, अब वतन ए राह बुलाती है। दिखलाओ [...]

माँ वंदना

Santosh Barmaiya
💐💐💐💐💐मातृदिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ💐💐💐💐💐 ★ [...]

आ अब लौट चले उस गाँव

Santosh Barmaiya
आ अब लौट चले उस गाँव। जहाँ माँ के आँचल की छाँव।। करघा, आँगन [...]

वीर शौर्य

Santosh Barmaiya
माँ की कोख में पलता यहाँ बच्चा शौर्यमय हो जाता है। [...]

नहीं सरल राजत्व निभाना

Rita Singh
नहीं सरल राजत्व निभाना राजा तुम्हें समझना होगा , राजतिलक [...]

भारत के वीर जवानों

शालिनी साहू
भारत के वीर- . हे!भारत के वीर जवानों तुम मातृभूमि की रक्षा [...]

पापा की बिटिया

लक्ष्मी सिंह
🌹🌹🌹🌹 गर्मी की छुट्टी ढेर सारी मस्ती। जिन्दगी फूलों [...]

“चेहरे गाँवो के”

Prashant Sharma
चेहरे गाँवों के हैं बदले जन-मन में स्वारथ का पहरा, हुई नदारद [...]

दर्द बाहर निकले लगा

Hardeep Bhardwaj
है जो सीने मे दर्द भरा लिखने बैठा तो बाहर निकलने लगा | बरस [...]

कविता : दो ही चीज गजब की हैं~~●●💝💝

Radhey shyam Pritam
मनुज मन मंदिर तो दिल समन्दर है। इस धरा पर भगवान सबके अंदर [...]

राह का पत्थर

संगीता शुक्ला
नफरतो का दौर वो ले आये बने फिरते है क्यों अनजाने कभी झांक [...]

मन और जीवन

Neelam Sharma
मन और जीवन है मन चंचल-जीवन गतिवान, दोनों​ही परस्पर चलते [...]

साहित्य की भूमिका

Rajesh Kumar Kaurav
साहित्य देता रहा सदा से, दिशा देश अौर समाज को । साहित्यकार [...]

सरकारी स्कूलों की व्यथा….

शालिनी साहू
. मास्टर जी विद्यालय में बैठ बच्चों से पंखा झलवा रहे थे खुद [...]

प्रातःकाल

लक्ष्मी सिंह
🌹🌹🌹🌹 प्रातःकालीन प्रथम सूर्य किरण, मंत्र मुग्ध बंधा मन का [...]

*** ऐ जानेमन ***

भूरचन्द जयपाल
22.5.17 **रात्रि** 10.31 चाहत छुपाकर क्यों होते हो आहत रखोगे इस क़दर [...]

नशा

जगदीश लववंशी
नशा नाश की निशानी, नित्य निशा नशेड़ी नचता, नर नोचता नर, नर [...]

एक प्याली चाय

कमलेश यादव
एक प्याली चाय और दोस्तों का साथ दूर कर देती है दिन भर की [...]

दो किनारे रह गये…

शालिनी साहू
अपनों के लिए हमेशा हारती रही! जीतने का हुनर धीरे-धीरे भूलती [...]

नरक का दंड

Raj Vig
कर्मो का समय जब मेरा पूरा हुआ प्रभु के आदेश से यमराज दूतों [...]

तुम

प्रतीक सिंह बापना
तुम्हारे सुबह के मैसेज की उम्मीद में अब आंख नहीं खुलती [...]

आज मैंने

प्रतीक सिंह बापना
जो तुझे मुझे जोड़ता था वो बंधन तोड़ दिया आज मैंने मैं तेरी [...]

“प्यासे अधर”

Dr.rajni Agrawal
"प्यासे अधर" सदियों से प्यासे अधरों पर मधु मुस्कान कहाँ से [...]

प्यार जिसने किया तड़पते हैं

Pritam Rathaur
2121 1212 22 राह कांटों की फिर भी चलते हैं जिंदगी के सफर यूं कटते [...]

तुने जो लिखे थे खत

लक्ष्मी सिंह
🌹🌹🌹🌹 तुने जो लिखे थे खत, उसे आज भी पढ़ती हूँ। तेरे संग गुजरे [...]

जब भी सुनी बात….

शालिनी साहू
जब भी सुनी बात खुले वातावरण की गाँव की कल्पना मन में उभर [...]

सुन ए खुशी,

Neelam Sharma
सुन ए खुशी, बातें दिल की जों तेरे लबों पे आजाएं !! तो मेरा इश्क [...]