साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

कविता

तलाक

Rashmi Singh
न उलझी थी न सुलझी थी जब हम प्रेम पाश में बंधे थे की अब कोई [...]

एक कहानी मेरी भी लिखना

Rashmi Singh
#कभी_मौका_मिले_तो मेरी भी एक कहानी लिखना की मैं टुकड़ो टुकड़ो [...]

** मुहब्बत का खजाना ***

भूरचन्द जयपाल
फ़िजा में आज घुली है जमाने-भर की आबे-बू कुछ क्षण गुस्ल कर लूं [...]

* पति एकता जिंदाबाद *

भूरचन्द जयपाल
रविवार का दिन था पीड़ित-प्रताड़ित-पति जुलूस के साथ नारे [...]

*** शुक्र मना ***

भूरचन्द जयपाल
ना दुखी हो इतना तूं शुक्र मना............. पांव ही दबवा रही है [...]

** मुझे जुकाम था **

भूरचन्द जयपाल
* मेरी आँखों से लगातार आँसू बहे जा रहे थे मै अपने आँसू [...]

हम भी देश बदलते हैं

Hema Tiwari Bhatt
कल गली में कुछ बच्चे, 'गधे का धोबी' खेल रहे थे गठरी थी धोबी के [...]

लगे सभी कुर्सी कब्जाने

Laxminarayan Gupta
यहाँ चली है बहस गधों पर कब्रिस्तानों, श्मशानों पर साइकिल- [...]

विश्व साहित्यपीडिया

लक्ष्मी सिंह
🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸 🌸वाह वाह लाजवाब विश्व साहित्यपीडिया, [...]

*महकती फूल हूँ *

सरस्वती कुमारी
महकती फूल हूँ मसले जाने या फिर मुरझाने का कोई गम नहीं है [...]

🐾वो आयी🐾

मानक लाल*मनु*
🐾वो आयी🐾 बेरुखी से भरी जिंदगी में फिर बहार आयी,, अश्को में [...]

वादा

Madhumita Bhattacharjee Nayyar
अंधेरे जब कभी तुमको डराने लगे, पथरीली राहों पर कदम डगमगाने [...]

चंद्रमुखी : मत्तग्यन्द सवैया

नवीन श्रोत्रिय
जोगिन एक मिली जिसने चित, चैन चुराय लिया चुप मेरा । नैन बसी [...]

“फाग”

राजेश शर्मा
हर त्यौहार हम सब अपनों के साथ मनाना चाहते हैं;जो बच्चे दूर [...]

क्या मुर्दे भी कभी कुछ सोचते हैं

लोधी डॉ. आशा 'अदिति'
ना मैं कुछ देख सकता हूँ ना सुन सकता हूँ और ना ही मैं कुछ बोल [...]

शिकायत

Ravinder Singh Sahi
अगर अपना समझो, हाथ बडा कर तो देखो। अपना बना दिल की बात सुना कर [...]

**जिंदगी दो पल की**

Neelam Ji
जब से जिंदगी को जाना है, बस इतना ही पहचाना है । जिंदगी है दो पल [...]

__दूर कहीं….??

राहुल रायकवार जज़्बाती
दूर कहीं बह जाना चाहता हूँ... तन्हाँ अकेले लहरों में... . दूर [...]

अभिलाषा

sudha bhardwaj
यह उस बेटी की अभिलाषा है जो अभी अजन्मा है माँ की कोख़ मे ही है [...]

स्नेह-बदली

डॉ०प्रदीप कुमार
"स्नेह-बदली" ----------------- स्नेह-बदली तुम बनकर बरसो ! मेरे [...]

खूशियों के पल

Raj Vig
जी भर के आज वो मुस्कराया है बाद मुद्दत के खूशियों का पल झोली [...]

“””””” सफ़र “””””””

अजीत कुमार तलवार
न कभी भी ख्त्म होने वाला सिलसिला आ फ़िर से निकल चलें उस सूनी [...]

!!! फौजी के दिल के अरमान !!!

अजीत कुमार तलवार
तुझे प्यार दू या दू इस सीमा को कुछ कहना बडा मुश्किल सा लगता [...]

राजनैतिक विष

Laxminarayan Gupta
कैसे कैसे पागल नेता, कुछ भी कहते रहते हैं । और हम, पिछलग्गू [...]

!!! ~मुकद्दर~ !!!

अजीत कुमार तलवार
मुक्कदर को अपने सम्भाल कर कहाँ ले जाओगे जब लिखी हों [...]

— अत्याचार —

अजीत कुमार तलवार
रोज रोज देख कर मन तड़प रहा है बेजुबान पर चला कर चाकू वार हो [...]

संबंध

Priyamvada Sharma
एक दिन आया था मेरी भी जिंदगी मे सपना हो रहा था मेरा साकार हो [...]

सर्जिकल स्ट्राईक

लक्ष्मी सिंह
सेना की वीरता ,देशभक्ति और हौसले को [...]

——-इज्जत घर की अपने हाथ———

अजीत कुमार तलवार
-- जब बचपन था तो हर चीज़ से अन्जान थे आज बड़े हुये तो नशे में [...]

गुरू

लक्ष्मी सिंह
🌹💕🌹💕🌹💕🌹 शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं माता देती नव [...]