साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

कहानी

पैदायशी बुजुर्ग ।

Satyendra kumar Upadhyay
कौन आया है ? सुघरा के घर आकर पूॅछते ही , सौम्या की सास ने गोद में [...]

लाचार ओढ़नियाॅ ।

Satyendra kumar Upadhyay
हाॅ ! बोलो ; टीना जी ! क्या हुआ ? क्यूँ लेट हो गयीं ? वह बस कहीं [...]

मायका ।

Satyendra kumar Upadhyay
सुरेश शाम घर पहुँचा, सारे टीन-टप्पर इधर-उधर , पड़ोसी व पुलिस [...]

वतन की ओर वापसी

Naval Pal Parbhakar
वतन की ओर वापसी एक अधेड़ उम्र, सफेद बाल, कमर से झुकी, बार-बार [...]

मौत खरीदता युवक

Naval Pal Parbhakar
मौत खरीदता युवक एक बार मैं एक ट्रेन से कहीं बाहर से आ रहा था । [...]

विज्ञान तेरी जय

Naval Pal Parbhakar
विज्ञान तेरी जय मैं और मेरे दोस्त सभी लोग एक बगीचे में घुमने [...]

तिलचट्टे

महावीर उत्तरांचली
"वो देखो दाने-पानी की तलाश में निकलती तिलचट्टों की भीड़," लेबर [...]

मुश्किल समय

महावीर उत्तरांचली
"अरे लखनवा, मैं कई दिनों से देख रहा हूँ। तुम जितना कमाते हो। [...]

****उड़ान***( एक काव्यात्मक कथा)

Neeru Mohan
मैं उस देश की बेटी जिसमें जन्मी सीता और सती | मुझको मत कमजोर [...]

जंगल में महासभा

Naval Pal Parbhakar
जंगल में महासभा आज जंगल में एक महासभा होने वाली है । जंगल के [...]

दूसरा जन्म

Naval Pal Parbhakar
दूसरा जन्म अधेड़ उम्र की औरत गांव से बाहर काफी दूर एक बड़े [...]

मांग

Naval Pal Parbhakar
मांग कॉलेज के पिछे वाले ग्राऊंड में बहुत सारे पेड़ों के बीच [...]

******पर्दे के पीछे का सच*****

Neeru Mohan
***किसी ने क्या खूब कहा है*** *******कोशिश करने वालों की कभी हार [...]

कलंकी

धर्मेन्द्र राजमंगल
सुबह का समय था| सूरज निकला, उसकी स्वर्ण पीताभ किरणें मेरे [...]

मुझे खराब नहीं होना

डॉ०प्रदीप कुमार
"मुझे खराब नहीं होना" (लघुकथा) ओजस्वदीप ,मूक-श्रोता और [...]

उलझन (कहानी )

Dr. Sarla Singh
"उलझन" .............. शाम का समय ,आकाश में बादल छाये हुए थे, [...]

बदलाव

Naval Pal Parbhakar
बदलाव वह औरत जिसका नाम कमला था । आज तो मुझे किसी भी किमत पर [...]

माँ भारती की व्यथा

डॉ०प्रदीप कुमार
" माँ भारती की व्यथा " सदियों से संस्कार, संस्कृति और सभ्यता [...]

पृथ्वी भ्रमण

Naval Pal Parbhakar
पृथ्वीभ्रमण नारायण-नारायण, महाराज विष्णु की जय हो। हे [...]

मेकिंगचार्ज

ila singh
*********** मेकिंगचार्ज *********** "टमाटर किस भाव? "बड़े-बड़े लाल-लाल [...]

बालकहानी- चतुराई धरी रहा गई.

ओमप्रकाश क्षत्रिय
चतुराई धरी रह गई ओमप्रकाश क्षत्रिय "प्रकाश" चतुरसिंह के [...]

चल पड़ी जिस तरफ जिन्दगी

आनन्द कुमार
वह पूरब की अंधेरी गलियों से होता हुआ, हमारे पश्चिमी मोहल्ले [...]

माँ

महावीर उत्तरांचली
"सूरा-40 अल-मोमिन," पवित्र कुरआन को माथे से लगाते हुए उस्ताद [...]

मास्टर जी

महावीर उत्तरांचली
"मोहन जी," ठीक मेरे पीछे से पुकारे गए किसी स्त्री स्वर ने मेरी [...]

नस्लें (प्रतिनिधि कहानी)

महावीर उत्तरांचली
"अरे भाई ये किसकी लाश है? हमारे बरामदे में क्यों रख रहे हो? [...]

जि़द….!!

yashwant viran
एक साधारण जिद्दी कहानी......"जिद...!!" नवाब साहब के एक हादसे में [...]

प्रेम का ज्वार-१

अजय कुमार मिश्र
भाग-१- प्रेम का ज्वार ----------------- प्रीति बेलि जिनी अरुझे [...]

जीवन धारा

आशीष त्रिवेदी
जब मि . गुप्ता ने कैफे में प्रवेश किया तब मि . खान और मसंद का [...]

बालकहानी – घमंडी सियार

ओमप्रकाश क्षत्रिय
घमंडी सियार ओमप्रकाश क्षत्रिय "प्रकाश" काननवन में एक [...]

बेटियां

mohit kumar
एक बार घटित हुआ वो किस्सा फिर उसने शोर मचाया सबको जगाया जग जग [...]