साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

हाइकु

॥माँसाहार मानव भोजन नहीं॥ हाइकु

Abhishek Parashar
माँसाहार का, प्रभाव होता बुरा, शरीर पर ॥1॥ नर हुआ है, दानव [...]

*प्राकृतिक आपदाएँ* हाइकु

Dr.rajni Agrawal
हाइकु मञ्जूषा अंक - 49 विषय:- ***** प्राकृतिक आपदाएँ 01. आंधी 02. [...]

आंशू

Rishav Tomar (Radhe)
नयन नीर कह रहा है साथी मन की पीर दिल का दर्द झलकता है बन आँख [...]

मइनसे के पीरा [छत्तीसगढ़ी हाइकु संग्रह की समीक्षा]

प्रदीप कुमार दाश
छत्तीसगढ़ी हाइकु संग्रह : मइनसे के पीरा : प्रदीप कुमार दाश [...]

झाँकता चाँद की समीक्षा

प्रदीप कुमार दाश
झांकता चाँद : (साझा हाइकु संग्रह) प्रकाशन वर्ष - जनवरी [...]

दस हाइकु

प्रदीप कुमार दाश
हाइकु      -प्रदीप कुमार दाश "दीपक" 01. सत्य है जहाँ      प्रभु [...]

हाइकु

arti lohani
राम का राज। सब एक समान। सँवारे काज।। नीले कृष्णा । गोपियों [...]

रुढ़ियों का आकाश [सेन्रियू संग्रह की समीक्षा]

प्रदीप कुमार दाश
"रुढ़ियों का आकाश" प्रदीप जी द्वारा रचित हिन्दी का प्रथम [...]

हाइकु वाटिका की समीक्षा

प्रदीप कुमार दाश
हाइकु वाटिका [साझा हाइकु संग्रह] संपादक - प्रदीप कुमार दाश [...]

हाइकु सप्तक की समीक्षा

प्रदीप कुमार दाश
हाइकु सप्तक : संपादक - प्रदीप कुमार दाश "दीपक" [ हिन्दी के [...]

नक्षत्रों पर हाइकु

प्रदीप कुमार दाश
प्रदीप कुमार दाश "दीपक" -------------------------------- 28 नक्षत्रों पर हाइकु [...]

* प्यार *

Neelam Ji
प्यार कहता 💖 मैं सच्चा साथी तेरा तू ये माने ना 💓 प्यार कहता [...]

वर्षा ऋतु हाइकु

Dr.rajni Agrawal
"वर्षा ऋतु" हाइकु ********** (१) काले बादल हँसता मरुस्थल [...]

+++ जल +++

दिनेश एल०
+++ जल +++ ये है एच० टू० ओ० सदा फुलटू पीओ रहो नीरोग । ////////////////// जल [...]

## प्रेम ##

दिनेश एल०
((( प्रेम ))) ईश से प्रेम है सांसारिक मुक्ति किताबी बातें [...]

फासले

Neelam Sharma
हाइकु- फासला फासले दूरी निभाते मजबूरी बस नाम की। कोशिश भी [...]

प्रेम

Neelam Sharma
आज का हासिल हाइकु-प्रेम है प्रेम राग मधुर अनुराग लाग [...]

कश्मीर का दर्द-२

aparna thapliyal
शहीद ले.उमर फैयाज़ को समर्पित (५ हाइकु) १ झेलम तीरे पहले [...]

****जल ही जीवन*****हाइकु कविता****

Neeru Mohan
हाइकु कविता जल सबका जीवनदाता  | बिन जल मानुष | जीवन न पाता | ***** [...]

हाइकु

Neelam Sharma
हाइकु जल उफ़ ये प्यास चिलचिलाती धूप सूखे हैं कूप। बढ़ा [...]

बूंदें

Neelam Sharma
हाइकु मेघ/बूंदें मेघ हैं छाये घनघोर घटाएं बूंदें [...]

प्रकृति

Neelam Sharma
हाइकु प्रकृति सुंदर सृष्टि सींचे इंद्रधनुष खुशी [...]

बेवफा

Neelam Sharma
हाइकु बेवफा शाम सिंदुरी हरजाई सूरज घर न लौटा। बसी रूह [...]

शर्म

Neelam Sharma
हाइकु शरम/शर्म पर्दा न कर, शर्म आंखों की काफी खुद से [...]

बेटी

Dr.rajni Agrawal
हाइकु में कविता "बेटी" माँ का सपना,बाबुल के अँगना,जन्मी ये [...]

हाइकु

Neelam Sharma
हाइकु (१) ठूंठ हो गई गुलज़ार जिंदगी वृक्ष न काटो। (२) [...]

***चंद्र ज्योत्सना***

Neeru Mohan
*१. चाँदनीे  नग  प्रकाशित है जग श्वेत अंबर *२. सांध्यगीत [...]

चांद

Neelam Sharma
हाइकु चांद बुढ़िया माई है चरखा कातती चांद पे देखो। रात [...]

सुभग सुप्रभात !

Neeru Mohan
१. अंबुद मन कर नवसृजन आलस त्यज २. अंबर तल नभचर मस्त [...]

ये मोक्ष धाम

Santosh Barmaiya
विधा - हाइकु सुंदर मन। हरे भरे है वन। स्वस्थ जीवन।। भौतिक [...]