साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

घनाक्षरी

शंकर आदि अनंत

Dr Archana Gupta
शंकर आदि अनंत, अविनाशी नित्यानन्द, आशुतोष महाकाल ,शिव ही [...]

आया देखो मधुमास,

Dr Archana Gupta
आया देखो मधुमास,घोले मन में मिठास,प्रीत झाँक अँखियों में , [...]

सूर घनाक्षरी

Sharda Madra
पत्थर पहाड़ पत्ते, तपाये तपन तपें, आग आज अजगर, सा मुख [...]